सैटेलाइट फोन क्या है? क्यों यह बहुत महंगा है?

सैटेलाइट फोन….. 'सैटेलाइट फोन को सेटफोन के नाम से भी जाना जाता है,ये हमारे फोन्स की तुलना में अलग होते हैं। क्योंकि यह लैंडलाइन या सेल्युलर टावरों की बजाय सैटेलाइट (उपग्रहों ) से सिग्नल प्राप्त करते हैं'। ( चित्र सैटेलाइटफोन ) इनकी खास बात यह होती है कि इनके द्वारा किसी भी स्थान से काॅल किया जा सकता है। यह हर जगह उपयोगी साबित होते हैं चाहे आप सहारा मरुस्थल में ही क्यों न हों। कहा तो यह भी जाता है कि यह पानी के अंदर भी आसानी से सिग्नल प्राप्त कर सकने में समर्थ होते हैं। सेटेलाइट फोन बस थोड़ा स्लो होते हैं (हमारे मोबाइल फोन के मुकाबले) यानी बातचीत के दौरान इसमें थोड़ी सी अड़चनों का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि इनके द्वारा भेजे गए सिग्लन को सेटेलाइट तक जाने और वहां से वापस लौट कर आने में ज्यादा समय लगता है।हालांकि यह कमी बहुत ही नगण्य है। यह ज्यादातर आपदाओं के समय हमे काफी सहायक सिद्ध होते जब हमारे सिस्टम बहुत हद तक ख़राब हो गये होते हैं। क्या हम सेटेलाइट फोन खरीद सकते हैं….. भारत में सैटेलाइट फोन खरीदने के लिए विशेष कानून बनाए गए हैं भारत ही नहीं हर देश में इसके लिए अलग…

कौन से ऐसे देश हैं जहां की नागरिकता मिलना बहुत मुश्किल है ! Which are the countries where it is very difficult to get citizenship


 

ऐसे बहुत से देश हैं जो जहां नागरिकता मिलना बहुत ही कठिन है या फिर नामुमकिन है।
वेटिकन सिटी
वेटिकन सिटी इटली की राजधानी रोम के अंदर बसा हुआ एक छोटा सा देश है जो भारत के एक छोटे से शहर के बराबर है। इसकी स्थापना की वजह रोमन कैथोलिक चर्च का अपने आपको किसी भी राज्य के अधीन में ना रखना था। इसलिए इटली ने इसे कुछ जमीन देकर अलग देश बना दिया। इसमें पोप ही राजा होता है। इस देश की अपनी करेंसी, अपना डाकघर, और रेडियो व्यवस्था है। यहां किसी किस्म का टैक्स नहीं लगता है। वेटिकन सिटी में नागरिकता तभी मिल सकती है अगर कैथोलिक चर्च के लिए काम करते हैं या ऑफिस में काम करते हैं। यहां जन्म से नागरिकता नहीं मिलती।
भूटान
भूटान दुनिया का एक अलग-थलग सा देश है। इस देश ने अपने पर्यटन को भी 1974 के बाद खोला था। यहां के नागरिक होने के लिए दोनों माँ बाप का नागरिक होना जरूरी है अगर एक नागरिक है और दूसरा नहीं तो १५ साल यहां रहने के बाद नागरिकता के लिए कोशिश की जा सकती है। दूसरे लोगों को इस देश में लगभग 20 साल तक रहना जरूरी है।
चीन
चीन के सिटीजनशिप के लिए वहां एक अपना रिश्तेदार जो चाइनीस सिटीजन हो ऐसा जरूरी होता है। बहुत लंबा समय रहने से भी सिटीजनशिप की कोशिश की जा सकती है।
कतर
इस देश के नागरिक होने के लिए पिता का कतर से होना जरूरी है भले मां हो या ना हो। बाकी लोगों के लिए कतर का नागरिक होने के लिए यहां 25 साल तक रहना जरूरी है और वह भी ऐसे जिसमें आप लगातार दो महीने तक इस देश से बाहर नहीं गए हों।
कुवैत
इस देश की नागरिकता पाने के लिए जन्म से मुस्लिम हो या कन्वर्ट किया हो और अगर कन्वर्ट किया हो तो 5 साल तक मुस्लिम रिलिजन को मानना जरूरी है, साथ में 20 साल तक इस देश में रहना जरूरी है और अगर दूसरे अरब देश से हों तो १५ साल इस देश में रहा हो। अगर पत्नी दूसरे देश की हो तो भी १५ साल इस देश में रहने के बाद नागरिकता मिलती है।
यूएई या यूनाइटेड अरब अमीरात
यूनाइटेड अरब अमीरात में नागरिकता पाना बहुत मुश्किल है इस के लिए 30 साल तक इस देश में रहना जरूरी है। अगर ओमान, कतर और बहरीन के नागरिक हैं तो उनको 3 साल में नागरिकता मिल सकती है। और बाकी अरब देशों के नागरिक को 7 साल में नागरिकता मिल सकती है।
Liechtenstein
यह एक पहाड़ी देश है जो ऑस्ट्रिया और स्विट्जरलैंड के बीच में है और इसकी जनसंख्या लगभग 40,000 है। यहां की पापुलेशन को कम रखने के लिए, यहां के नागरिक बनने की प्रक्रिया को सख्त रखा गया है।
नागरिक बनने के लिए यहां 30 साल तक रहना जरूरी है और २० साल की उम्र होने पर हरेक साल को २ साल गिना जाता है। अगर यहां किसी नागरिक से विवाह होता है तो 5 साल के लिए यह पीरियड कम कर दिया जाता है।
स्विट्ज़रलैंड
इस देश की नागरिकता पाने के लिए 10 साल तक इस देश में रहना जरूरी है और वह भी वर्क परमिट के साथ। जो लोग कनाडा, अमेरिका या अन्य यूरोप के देशों से है उनके लिए ५ साल लगातार वर्क परमिट के साथ यहां रहना जरूरी है।
फुटनोट

Comments