सैटेलाइट फोन क्या है? क्यों यह बहुत महंगा है?

सैटेलाइट फोन….. 'सैटेलाइट फोन को सेटफोन के नाम से भी जाना जाता है,ये हमारे फोन्स की तुलना में अलग होते हैं। क्योंकि यह लैंडलाइन या सेल्युलर टावरों की बजाय सैटेलाइट (उपग्रहों ) से सिग्नल प्राप्त करते हैं'। ( चित्र सैटेलाइटफोन ) इनकी खास बात यह होती है कि इनके द्वारा किसी भी स्थान से काॅल किया जा सकता है। यह हर जगह उपयोगी साबित होते हैं चाहे आप सहारा मरुस्थल में ही क्यों न हों। कहा तो यह भी जाता है कि यह पानी के अंदर भी आसानी से सिग्नल प्राप्त कर सकने में समर्थ होते हैं। सेटेलाइट फोन बस थोड़ा स्लो होते हैं (हमारे मोबाइल फोन के मुकाबले) यानी बातचीत के दौरान इसमें थोड़ी सी अड़चनों का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि इनके द्वारा भेजे गए सिग्लन को सेटेलाइट तक जाने और वहां से वापस लौट कर आने में ज्यादा समय लगता है।हालांकि यह कमी बहुत ही नगण्य है। यह ज्यादातर आपदाओं के समय हमे काफी सहायक सिद्ध होते जब हमारे सिस्टम बहुत हद तक ख़राब हो गये होते हैं। क्या हम सेटेलाइट फोन खरीद सकते हैं….. भारत में सैटेलाइट फोन खरीदने के लिए विशेष कानून बनाए गए हैं भारत ही नहीं हर देश में इसके लिए अलग…

भारत के मानचित्र में श्रीलंका को क्यों दर्शाया जाता है? ! Why is Sri Lanka shown in the map of India?



आइये जानते है।
शायद आपने भारत के मानचित्र का अध्ययन ध्यान से नही किया है, भारत के मानचित्र मे केवल श्रीलंका ही नही बल्कि भारत के सभी पडोसी देशो को दर्शाया जाता है। जिसे आप निम्न मानचित्र की सहायता से समझ सकते है।
चित्र स्त्रोत - मेरा यंत्र
अब आप इसे ध्यान से देखेंगे तो पायेंगे कि इस मानचित्र मे श्रीलंका, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, चीन, नेपाल, भूटान, म्यांमार और बांग्लादेश को भी दर्शाया गया है। क्योकी ये सभी भारत के पडोसी देश है।
इसे दूसरे तरीके से आप ऐसे भी समझ सकते है, की भारत की सबसे दक्षिणी भूमि जो कि बंगाल की खाडी मे श्रीलंका से नीचे तक स्थित है। और हमे हमारी भूमि को दर्शाने के लिए उसके क्षेत्र मे आने वाले अन्य देशो को दर्शाना अनिवार्य हो जाता है।
आप किसे अन्य देश के मानचित्र को भी देख सकते है। संयुक्त राज्य अमेरिका का मानचित्र।
चित्र स्त्रोत - गूगल

Comments