सैटेलाइट फोन क्या है? क्यों यह बहुत महंगा है?

सैटेलाइट फोन….. 'सैटेलाइट फोन को सेटफोन के नाम से भी जाना जाता है,ये हमारे फोन्स की तुलना में अलग होते हैं। क्योंकि यह लैंडलाइन या सेल्युलर टावरों की बजाय सैटेलाइट (उपग्रहों ) से सिग्नल प्राप्त करते हैं'। ( चित्र सैटेलाइटफोन ) इनकी खास बात यह होती है कि इनके द्वारा किसी भी स्थान से काॅल किया जा सकता है। यह हर जगह उपयोगी साबित होते हैं चाहे आप सहारा मरुस्थल में ही क्यों न हों। कहा तो यह भी जाता है कि यह पानी के अंदर भी आसानी से सिग्नल प्राप्त कर सकने में समर्थ होते हैं। सेटेलाइट फोन बस थोड़ा स्लो होते हैं (हमारे मोबाइल फोन के मुकाबले) यानी बातचीत के दौरान इसमें थोड़ी सी अड़चनों का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि इनके द्वारा भेजे गए सिग्लन को सेटेलाइट तक जाने और वहां से वापस लौट कर आने में ज्यादा समय लगता है।हालांकि यह कमी बहुत ही नगण्य है। यह ज्यादातर आपदाओं के समय हमे काफी सहायक सिद्ध होते जब हमारे सिस्टम बहुत हद तक ख़राब हो गये होते हैं। क्या हम सेटेलाइट फोन खरीद सकते हैं….. भारत में सैटेलाइट फोन खरीदने के लिए विशेष कानून बनाए गए हैं भारत ही नहीं हर देश में इसके लिए अलग…

नमक के बारे में कुछ रोचक तथ्य ! Some interesting facts about salt



1. भारत नमक के उत्पादन के मामले में तीसरे नंबर पर है. भारत में 70% नमक समुद्र के पानी से बनता है.
2. भारत में सेंघा नमक हिमाचल प्रदेश में ही उत्पन्न होता है.
3. आजादी से पहले भारत में नमक की बहोत ही कमी थी जिसकी वजह से हमको नमक का आयात करना पड़ता था.
4. वैज्ञानिको के अनुसार दुनिया में नमक कभी भी खत्म नही होगा क्यूंकि समुद कभी सुख नहीं सकता है.
5. अगर सही मात्रा में नमक का इस्तमाल किया जाए तो यह हमारे शरीर में रोग प्रतिकारक शक्ति को बढाता है.
6. अगर आप ज्यादा मात्रा में नमक का इस्तमाल करते हो तो आपकी मौत भी हो सकती है.
7. काले नमक का उपयोग दवाई में अधिक मात्रा में होता है क्यूंकि यह शरीर के लिए बेहद ही फायदेमंद है और इसको कही भी उगाया या बनाया नही जाता है बल्कि यह कुदरत की दें है जो पहाड़ो और ज्वालामुखी के पत्थर से मिलता है.
8. काले नमक में सोडियम, क्लोराइड, सल्फर, आयरन, हाइड्रोजन , पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नेशियम, गेगेट, आयोडीन जैसे 80 तरह के खनिज तत्व होते है जो हमारे शरीर के लिए बेहद ही फायदेमंद है.
9. अगर आपको पता ना हो तो बता दे की समुदी नमक में एल्युमिनियम सिलिकेट और पोटेशियम अयोडेट जैसे घातक राशायन होते है इसी वजह से अमेरिका, डेनमार्क सहित दुनिया के 56 देशो ने सफ़ेद नमक पर रोक लगा दी है लेकिन भारत में 90% लोग सफ़ेद नमक का ही इस्तमाल करते है.
10. हर साल सफ़ेद नमक का इस्तमाल करने के कारण कई सारे लोगो को कैंसर, शिर पर गांठ जैसी बीमारी हो जाती है और मर जाते है.

Comments