भारतीय इतिहास के पांच बड़े गद्दार ! Five big traitors of Indian history

जयचंद
जैसे की हम सब जानते है की पृथ्वीराज चौहान देश के महान राजाओं में से एक थे, उनके शासनकाल में मोह्हमद गौरी ने देश पर कई बार आक्रमण किया पर उनको कोई बड़ी कमियाबी हासिल नहीं हुई. दूसरी तरफ कन्नौज के राका जयचंद पृथ्वीराज से अपनी बेइज्जती का बदला लेना चाहते थे, बाद में उसने मोह्हमद के साथ हाथ मिला लिया और बाद में लड़ाई में उनकी मदद भी की इसका परिणाम ये हुआ की 1192 के तराईन की लड़ाई ने मोहम्मद की जित हुई. मीर जाफर
क्या आप जानते है मीर जाफर ना होता तो हम कभी अंग्रेजो के गुलाम नहीं बन पाते. 1757 के युद्ध में सिराजुद्दौला को हराने के लिए जाफर ने अंग्रेजो की काफी मदद की थी. मीर कासिम
सिराजुद्दौला को हराने के लिए अंग्रेजो ने मीर जाफर का इस्तेमाल किया था बाद में अंग्रेजो ने मीर जाफर को हटाने के लिए मीर कासिम का इस्तेमाल किया, कासिम को राजगद्दी तो मिली पर उनको ये अहसास हो गया की उसने बहुत ही बड़ी गलती की है. मान सिंह
जैसे की हम सभी जानते है की महराणा प्रताप ने कभी भी मुगलों की गुलामी को स्वीकार नहीं किया था पर मान सिंह जैसे गद्दार ने पद के लिए खुद को मुगलों के हाथों बेच दिया. मीर सादि…

दुनिया के सबसे खतरनाक पुल (ब्रिज) ! World's Most Dangerous Bridge

दुनिया के सबसे खतरनाक पुल (ब्रिज)  ! World's Most Dangerous Bridge

1. Glass Bottomed Bridge
 चीन में बना इस ब्रिज की ऊंचाई और लंबाई दुनिया में सबसे अधिक है। यह पुल 1230 फुट ऊंचा और 984 फुट लंबा है। यह पुल कांच का बना है और इस पर चलना खतरे से खाली नहीं है।
2. Titlis Cliff Walk
यह पुल स्विट्जरलैंड में बना है और यह समुद्र तल से करीब 10 हजार फुट की ऊंचाई पर बना है। दो पहाड़ियों का आपस में जोड़ने वाला यह ब्रिज यूरोप का सबसे ऊंचा पुल है। इसकी लंबाई 320 फुट और चौड़ाई 3 फुट है।
3. Glass Suspension Bridge
चीन में बने इस ब्रेव मैन पुल को भी दुनिया को सबसे खतरनाक पुल कहा जाता है। इसकी लंबाई 430 मीटर और ऊंचाई 300 मीटर है।
4. Carrick A Rede Bridge
नार्थ आयरलैंड में बना यह ब्रिज रस्सियों से बना है और यह जमीन से लगभग 100 फुट की ऊंचाई पर है। दो पहाड़ों को आपस में जोड़ने वाले इस ब्रिज पर चलना खतरे से खाली नहीं है।
5. Capilano Suspension Bridge
कनाडा में बने इस पुल का निर्माण 1889 में हुआ था और इसे नदी को पार करने के लिए बनाया गया था। इसकी ऊंचाई 230 फुट है और लंबाई 460 फुट है।

Comments