सैटेलाइट फोन क्या है? क्यों यह बहुत महंगा है?

सैटेलाइट फोन….. 'सैटेलाइट फोन को सेटफोन के नाम से भी जाना जाता है,ये हमारे फोन्स की तुलना में अलग होते हैं। क्योंकि यह लैंडलाइन या सेल्युलर टावरों की बजाय सैटेलाइट (उपग्रहों ) से सिग्नल प्राप्त करते हैं'। ( चित्र सैटेलाइटफोन ) इनकी खास बात यह होती है कि इनके द्वारा किसी भी स्थान से काॅल किया जा सकता है। यह हर जगह उपयोगी साबित होते हैं चाहे आप सहारा मरुस्थल में ही क्यों न हों। कहा तो यह भी जाता है कि यह पानी के अंदर भी आसानी से सिग्नल प्राप्त कर सकने में समर्थ होते हैं। सेटेलाइट फोन बस थोड़ा स्लो होते हैं (हमारे मोबाइल फोन के मुकाबले) यानी बातचीत के दौरान इसमें थोड़ी सी अड़चनों का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि इनके द्वारा भेजे गए सिग्लन को सेटेलाइट तक जाने और वहां से वापस लौट कर आने में ज्यादा समय लगता है।हालांकि यह कमी बहुत ही नगण्य है। यह ज्यादातर आपदाओं के समय हमे काफी सहायक सिद्ध होते जब हमारे सिस्टम बहुत हद तक ख़राब हो गये होते हैं। क्या हम सेटेलाइट फोन खरीद सकते हैं….. भारत में सैटेलाइट फोन खरीदने के लिए विशेष कानून बनाए गए हैं भारत ही नहीं हर देश में इसके लिए अलग…

पुतिन के बारे में कुछ डरावने तथ्य ! Some Scary Facts About Vladimir Putin


 

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन हमेशा से ही एक पहेली रहे हैं। जब वो अपने राजनीतिक परिवेश से दूर रहते हैं तो उन्हें विभिन्न तरह की गतिविधियों में संलिप्त पाया जाता है। बिना कपड़ों के घुड़सवारी से लेकर के तरह के करतब जिसमे हाथों से फ्राइंग पैन को मोड़ना भी शामिल है।
पुतिन की जकड़ देश के प्रति इतनी जबरदस्त है कि कोई उसको हिलाना तो दूर की बात छू भी नही सकता। कुछ लोग तो ये भी मानते हैं कि वो इसलिए कि वो आज से नही युगों युगों से यही इसी धरती पर विद्यमान हैं।
पुतिन को हमेशा अपने दुश्मनों से एक कदम आगे ही पाया गया है।
वो ही रूस का राजा है और हमेशा अपनी ताकत और मर्दानगी का बेहतरीन प्रदर्शन करता रहता है।
रूस की जनता की एक बड़ी संख्या हमेशा से ही पुतिन का विरोध करती रही है।
फिर भी वो दशकों से रूस पर राज करता आ रहा है। कैसे?
वो ऐसे कि, नए सिद्धांतो के अनुसार, यह हो सकता है कि शायद वो आज से नही बहुत पहले से यही करता आ रहा हो।
माना जाता है कि 1952 में लेनिनग्रेड में हुआ था, जिसे अब सेंट पीटर्सबर्ग के नाम से जाना जाता है।
लेकिन अब कुछ लोग मानते हैं कि यह इससे ज्यादा उम्र का है, शायद बहुत ज्यादा। लोगों ने तब इस बात पे गौर करने लगे जब इसकी समानता बहुत सारे ऐतिहासिक लोगो से मिलती नजर आई, जैसे कि 19वीं सदी के जनरल वलटिनोस (General Valtinos) से।
और 1400 कि जन वैन एयक (Jan Van Eyck) की पेंटिंग से।
कहीं वो मोनालिसा तो नहीं।
ये सभी सबूत कुछ ऐसी बात की तरफ इशारा कर रहे हैं, कि कुछ तो अजीब है।
और ये डच ग्राफ़िक कलाकार M C Escher की अजीब पेंटिंग।
क्या हो रहा है ये? कहीं ये इंसान अमर तो नहीं है?
पौराणिक कथाएं बहुत सारे अमर vampires और तरह तरह के प्राणियों से भरा पड़ा है। क्या पुतिन भी इनमें से एक है?

Comments