कंडोम के कुछ मज़ेदार उपयोग

जितेन्द्र प्रताप सिंह (Jitendra Pratap Singh)
कुछ साल पहले उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग बहुत खुश हुआ जब बनारस के बुनकरों में मुफ्त में बांटे जाने वाले कंडोम की मांग खूब बढ़ गई। स्वास्थ्य विभाग यह सोच रहा था कंडोम बांटने से बुनकरों के जनसंख्या वृद्धि रुकेगी और कंडोम का सही इस्तेमाल होगा लेकिन जब पता चला कि बनारसी साड़ी बनाने वाले बुनकर मुफ्त में मिलने वाले कंडोम का इस्तेमाल साड़ी बनाने में कर रहे हैं तब ना सिर्फ उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग बल्कि पूरी दुनिया चौक उठी थी साड़ी बनाने वाले बुनकर कंडोम का इस्तेमाल अपने करघा पर करते हैं. साड़ियाँ तैयार करने में इस्तेमाल हो रहे हैं कंडोम दरअसल कंडोम में चिकनाई युक्त पदार्थ होता है और करघा पर लगाने से उसके धागे तेज़ी से चलते हैं और उनमें चमक भी आ जाती है. क्योंकि कंडोम में प्राकृतिक रबड़ यानी लैक्टेस होता है इसलिए बुनकर बुनाई के पहले धागों को कंडोम से खूब रगड़ देते हैं जिससे धागे में इतनी अच्छी चिकनाई आ जाती है इस साड़ी की बुनाई करते समय धागा फसता नहीं है और बुनाई तेजी से होता है और साड़ियों में बहुत अच्छी प्राकृतिक चमक आ जात…

महिलाओं के बारे में रोचक तथ्य



महिला(स्त्री) ओ के शरीर से जुड़े 12 रोचक तथ्य, रहस्य और जानकारी
ओरत भगवान की बनाई हुई एक अनोखी रचना हे. यह कहेना बिलकुल भी गलत नहीं होगा की किशी भी महिला को पूरी तरह से समजन अपने आप में एक Mystery है. महिलाओ और पुरुषो की बॉडी एक दुसरे से काफी अलग होती है. जन्म से लेकर मृत्यु तक महिलाओ के शरीर में एसी कई सारी चीजे होती रहेती है जिसे एक पुरुष ना कभी महेसुस कर सकता हा और नाही समज शकता है.
1. पुरुषों के मुकाबले महिलाओं के बालों की मोटाई आधी ही होती है. उनके बाल चिकने भी होते हैं.यही वजह है कि स्त्रियों के बाल रेशमी और मुलायम लगते हैं. यही नहीं, किसी महिला के बालों की क्वालिटी से उसकी रिप्रोडक्शन क्षमता का पता भी चलता है यानी की बालों की क्वालिटी जितनी अच्छी होगी उतनि ही आने वाले बच्चे की सेहत और सुंदरता अधिक होगी.
2. शराब की अगर बात करे तो ज्यादातर लोगो का यही मानना होगा की एक मर्द किसी भी महिला की तुलना में ज्यदा शराब पि शकता है. यह बात पूरी तरह सच हे लेकिन एसा क्यों होता है? महिलाओ के शरीर में पुरुषो के मुकाबले पानी की मात्रा कम होती हे इसकी वजह से शराब पिने के कारन महीला के शरीर में इसका असर पुरुषो के मुकाबले ज्यादा होता है.
शरीर में पानी कम होने की वजह से Alcohol को Digest करने की क्षमता थोड़ी कम होती है और इतना ही नहीं टिस्यूस में पानी कम होने के कारन ओरतो को मर्दों के मुकाबले पसीना भी कम आता है.
3.वेसे तो यह मन जाता है की एक स्त्री के शरीर में सारे बदलाव किशोर अवस्था आने तक खत्म हो जाते है और इसके बाद उनकी हाइट बढ़ना बंध हो जाती है. लेकिन विज्ञान की मने तो सच कुछ और ही है. एक स्त्री का शरीर अपने 20 साल के बाद भी पूरी तरह बदलने में सक्षम होता है. सिर्फ शरीर ही नहीं लेकिन महिलाओ के दिमाग में भी काफी बदलाव 20 साल के बाद आते है. यही वजह हे की वक्त के साथ साथ महिला की Decision ability बढ़ जाती है.
4. हम सभी जानते है की प्रेग्नेन्सी के दोरान एक महिला को अजीबो गरीब खाना खाने का मन होता है. उनका पुरे नों महीने के दोरान कभी खट्टा कभी मीठा और कभी तीखा या नमकीन खाने का मन करता रहेता है. लेकिन क्या आप जानते है की 30 प्रतिसद ओरतो कोInedible चीजे जेसेकी मिटटी, चोक या पेन, साबुन जेसी अजीबो गरीब चीजे खाने का मन होता है.
प्रेग्नेन्सी का अशर महिलाओ के शरीर के साथ साथ उनके दिमाग पर भी होता है औरHormones पर होने वाला तेज बदलाव एसा होने का कारन मन जाता है.

Comments