रूस के बारे में आश्चर्यजनक तथ्य ! Amazing facts about Russia

1) रशिया USA से करीब दोगुना बड़ा है. रशिया इतना बड़ा है कि यहाँ पर 11 अलग-अलग टाइम जोन है.
2) रूस का कुल क्षेत्रफल प्लूटो ग्रह से अधिक है. रूस की लम्बाई-चौड़ाई करीब 10,000 किलोमीटर है जोकि चन्द्रमा के व्यास का लगभग तीन गुना है.
3) Russia के पास प्राकृतिक संसाधनों का खजाना है. रूस के पास जितना पेट्रोलियम, खनिज तत्व आदि है, उसका मूल्य करीब 75 ट्रिलियन डॉलर से भी अधिक है. रूस में तेल की इतनी सरी पाइपलाइन फैली हुई हैं कि उससे दुनिया को 6 बार लपेटा जा सकता है.
4) दुनिया में Natural Gas का सबसे बड़ा स्रोत रूस के पास है. रूस प्राकृतिक गैस का सबसे बड़ा एक्सपोर्टर भी है. दुनिया में कोयले का दूसरा सबसे बड़ा भंडार रूस के पास है. पेट्रोलियम के क्षेत्र में 8 वां सबसे बड़ा स्रोत भी रशिया के पास है.
5) रशिया में बहुतायत में पाए जाने वाले मुख्य धातु और खनिज तत्व इस प्रकार है. तांबा, चूना पत्थर, सोना, मैगनिशियम, माइका, एल्युमीनियम, कोबाल्ट, कोयला, बोरान, आर्सेनिक, टाइटेनियम, निकेल, स्टील, बॉक्साइट, वनैडियम, टिन, टंगस्टन, पोटाश, कैडमियम, पेट्रोलियम, फॉस्फेट आदि.
6) दुनिया के कुल सोने का करीब 40% स्रोत रशिया के पास…

Parle-G से जुड़े कुछ दिलचस्प तथ्य ! Intersting Facts About Parle-G


 

Parle-G बिस्कुट से जुड़े कुछ तथ्य-

  • 78 सालो से चला आ रहा है, आपका पसंदीदा बिस्कुट Parle-G ।
  • पारले जी कंपनी की शुरुआत सन 1929 में हुई थी, लेकिन उन्होंने सन 1939 में बिस्कुट का उत्पादन शुरू किया था ।
  • 1980 तक PARLE-G बिस्कुट का नाम PARLE GLUCO था ।
  • Parle-G बिस्कुट ने आज तक अपना LOGO नहीं बदला है ।
  • शुरू में Parle-G में G का मतलब "Glucose" था, लेकिन अब बदल कर 'Genius" कर दिया गया है ।
  • Parle-G ने अपना पहला विज्ञापन 1982 में दिया था। इस विज्ञापन में एक बूढ़े दादाजी और बच्चो को दिखाया गया था ।
  • पहले पारले जी बिस्कुट का पेकेट वेक्स कागच का आता था, लेकिन 2001 से इसे बदलकर प्लास्टिक के पेकेट में कर दिया गया ।
  • भारत में बिक्री के मामले में पारले जी नंबर 1 है। भारत में 70% बिस्कुट पारले ही बनाता है !आप जान कर चोंक जायेंगे की - हर मिनट लगभग 250000 लोग पारले जी बिस्कुट को खाते है ।
  • 2010 में पारले जी दुनिया का चोथा सबसे ज्यादा खाया जाने वाला बिस्कुट था ।
  • भारत के बाद पारले जी सबसे ज्यादा चीन में खाया जाता है ।
  • Parle नाम क्यों रखा गया ? - "
    पारले" नाम एक पुराने गाँव के नाम पर रखा गया ।
    जो लड़की पारले के पेकेट पर है वो कोन है ? >> हम आपको बता दे की जो लड़की पारले के पेकेट पर है, वो एक काल्पनिक चित्र है, उसका किसी भी व्यक्ति से कोई सम्बन्ध नहीं है। आज तक सब नीरू देशपांडे को पारले जी गर्ल मानते थे, लेकिन यह सच नहीं है। पारले पेकेट पर लगी लड़की का चित्र Everest creative "Maganlal Daiya" ने 1960 में बनाया था।
  •  

Comments