मानव शरीर के बारे में मजेदार तथ्य ! Some fun facts about the human body

मानव शरीर के बारे में मजेदार तथ्य क्या हैं?
50+ मानब देह से जुड़े अद्भुत तथ्य। हमारा यह शरीर दुनिया की सबसे जटिल रचनाओं में से एक है. हमारे देह का गठन इतना जटिल है कि इसे हर कोई समझ नहीं सकता.. आज मै आप लोगो को मानव देह (Human Body) के बारे में कुछ रोचक, कुछ मजेदार, कुछ आश्चर्यजनक तथ्यों बताने जा रहा हूँ.. … 1. इंसान के शरीर पर 1,00,000 Mile’s लंबी रक्त वाहिकाएं ( blood Vessel’s ) होती है। 2. क्या आपको पता है आप की नाक 50,000 अलग अलग गंध सूंघ (Smell) सकती है ? जी हां, यह सच है!! Saliva 3. अगर एक इंसान के पूरे जिन्दगी के लार ( Saliva ) को इकट्ठा किया जाये तो उससे दो Swimming pool आराम से भेदा जा सकता है। 4. क्या आपको पता है ? जहा एक तरफ इंसान के कान और नाक का बढ़ना कभी बन्द नहीं होता और वही दूसरी तरफ आँखे कभी बढ़ता ही नहीं। Nail 5. शायद आप को यकीन नहीं होगा लेकिन यह सच है कि एक इंसान के शरीर में इतना लोहा (Iron) होता है जिससे एक 3 inch का कील बन सकता है। 6. हमारे finger print’s के तरह ही हमारे tongue print’s भी unique होते है। 7. इतना तो सब को पता होता है कि इंसानी शरीर में Bacteria हो…

हम ज्यादातर लिखने के लिए नीली स्याही वाले पेन का उपयोग क्यों करते हैं ! Why do we use blue ink pens to write most





सबसे पहले काली स्याही कम उपयोग क्यों कि जाती है -
जानने के लिए नीचे दिए फॉर्म पर नज़र डालिए -
  अब बताइये की ऊपर दिया फॉर्म फोटोकॉपी है या फिर फॉर्म पर काली पेन से हस्ताक्षर किए गए है? ये बता पाना बहुत मुश्किल है। यही मुख्य कारण है की काली स्याही कम उपयोग की जाती है क्योंकि हमारी ज्यादातर प्रिंटिंग काले रंग से की जाती है। इसलिए प्रिंटेड पेपर पर किसी अन्य रंग की स्याही उपयोग करके बड़ी आसानी से अंतर पता किया जा सकता है कि किस जगह पर पेन चलाया गया है।
लेकिन मुख्य सवाल है नीला रंग ही क्यों ज्यादा उपयोग किया जाता है।
इसका कारण मनोवैज्ञानिक और वैज्ञानिक है। यदि आप रंगों को उनकी आवृत्ति/तरगधेर्य के आधार पर उन्हें बाटें जैसे नीचे चित्र में दिया है।

तो यहाँ देख सकते है कि लाल रंग की तरंगदैर्ध्य सबसे ज्यादा है अर्थात यह बड़ी आसानी से दूर से भी देखा जा सकता है। लेकिन ज्यादा देर तक इतनी तरंगदैर्ध्य वाले रंग देखना आपकी आंखों के लिए परेशानी हो सकती है। इसलिए ज्यादा तरंगदैर्ध्य के रंगों का उपयोग हम सामान्यतः स्याही या पेन में नही करते। यही कारण है टीचर हमेसा लाल रंग का उपयोग करते है क्योंकि ये बहुत आसानी से नज़र आता है। लेकिन कभी ध्यान दिया वह जो गोला बनाते है वह हमारी आंखों में कितना चुभता है हाहा।
ज्यादा देर तक किसी रंग के संपर्क में रहना है तो कम तरंगदैर्ध्य वाला रंग सबसे अच्छा है। अब सबसे कम तरंगदैर्ध्य के रंग हमारे पास है - बैंगनी, जामुनी और नीला। यहाँ हम बैंगनी और जामुनी न उपयोग करके नीला रंग उपयोग करते है। इसका कारण मनोवैज्ञानिक है।
मनोविज्ञान के अनुसार नीला रंग काफी देर तक आपको जोड़े रखने में सबसे कारगर है। 

 ये आपके अंदर का तनाव कम करता है और एकाग्रता को बढ़ाता है। नीला रंग विश्वास का भी प्रतीक है। कभी आपने ध्यान दिया कि सोशल नेटवर्क वेबसाइट (फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन) में नीला रंग ही क्यों उपयोग होता है क्योंकि वह चाहते है कि आप उनसे घण्टों एकाग्रता से जुड़ें रहे। वही दूसरी कंपनियां इस रंग का उपयोग वहाँ करती है जहां उन्हें अपने कस्टमर्स से विश्वास पाना है।

चूंकि नीला रंग विश्वास, एकाग्रता, लंबे समय तक जोड़े रखने में कारगर और कम तरंगदैर्ध्य के कारण आंखों के लिए बेहतर है। इसलिए नीले रंग की स्याही, पेन के लिए भी उत्तम है।

Comments

Post a Comment