कंडोम के कुछ मज़ेदार उपयोग

जितेन्द्र प्रताप सिंह (Jitendra Pratap Singh)
कुछ साल पहले उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग बहुत खुश हुआ जब बनारस के बुनकरों में मुफ्त में बांटे जाने वाले कंडोम की मांग खूब बढ़ गई। स्वास्थ्य विभाग यह सोच रहा था कंडोम बांटने से बुनकरों के जनसंख्या वृद्धि रुकेगी और कंडोम का सही इस्तेमाल होगा लेकिन जब पता चला कि बनारसी साड़ी बनाने वाले बुनकर मुफ्त में मिलने वाले कंडोम का इस्तेमाल साड़ी बनाने में कर रहे हैं तब ना सिर्फ उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग बल्कि पूरी दुनिया चौक उठी थी साड़ी बनाने वाले बुनकर कंडोम का इस्तेमाल अपने करघा पर करते हैं. साड़ियाँ तैयार करने में इस्तेमाल हो रहे हैं कंडोम दरअसल कंडोम में चिकनाई युक्त पदार्थ होता है और करघा पर लगाने से उसके धागे तेज़ी से चलते हैं और उनमें चमक भी आ जाती है. क्योंकि कंडोम में प्राकृतिक रबड़ यानी लैक्टेस होता है इसलिए बुनकर बुनाई के पहले धागों को कंडोम से खूब रगड़ देते हैं जिससे धागे में इतनी अच्छी चिकनाई आ जाती है इस साड़ी की बुनाई करते समय धागा फसता नहीं है और बुनाई तेजी से होता है और साड़ियों में बहुत अच्छी प्राकृतिक चमक आ जात…

सबसे घातक और जानलेवा रोग कौन सा है ! Which is the most deadly and deadly disease



दुनिया मे कई रोग है जिनसे सिर्फ कुछ मिनट से 24 घंटे के अंदर किसी की डेथ हो सकती है…मैं सिर्फ ऐसे रोगों के बारे में लिखने जा रहा जिससे वर्ल्ड लेवल..बड़े पैमाने पे मानव जीवन को नुकसान किया हो (ना कि ऐसे जिनके सिर्फ 2–4 केस हो)… मैं बताता हूँ कुछ ऐसे हो रोगों के बारे में..
1◆मेनिनजाइटिस(Meningitis)-****
ये बैक्टीरियल या वायरल इन्फेक्शन के द्वारा होता है…इससे ब्रेन और स्पाइनल कॉर्ड को कवर करने वाले लेयर में डैमेज हो जाता है..मुख्य रूप से ये बच्चों में ज्यादा होता है..ब्लड में पाइजन इत्ती तेज़ी से फैलता है कि अधिकतर केस में 2–4 घंटे में डेथ कन्फर्म है!!
2◆इबोला(EBOLA)- *****
अगर आप गूगल पे खोजेंगे तो शायद अधिकतर जगह इसी को सबसे खतरनाक बताया जाएगा ..इसमे मुख्य रूप से क्या होता है कि जिसको ये वायरस इन्फेक्ट करता है उसके अंदर के ऑर्गन से ब्लीडिंग होने लगती है ब्लीडिंग का अनकंट्रोल होना आप समझ ही सकते है कितनी खतरनाक चीज़ है..90% तक डेथ रेट!!….मुख्य रूप से अफ्रीकन कन्ट्री में इसका एफेक्ट है ..उम्मीद है जल्द ही इसका एन्टी डोज़ आ जायेगा!
(इबोला)
◆3.बलबोनिक प्लग-******
1400 ईस्वी के आसपास यूरोप में फैले इस रोग से करीब 5 करोड़ लोगों की कुछ दिन के अंदर डेथ हो गयी थी..यूरोप की आधी पापुलेशन खत्म हो गयी थी। वैसे अब प्लग को काफी हद तक कंट्रोल किया जा चुका है ..लेकिन अभी भी अगर एन्टी बायोटिक ट्रीटमेंट 2–3 दिन के अंदर नही दिया गया तो डेथ कन्फर्म है।।!
4◆.स्माल पॉक्स- ********
रिसर्च में तो कहते है 10000 ईसा पूर्व भी इस रोग के ट्रेस मिलते है..
वैसे तो इसका अंतिम केस 1977 में सोमालिया में देखा गया था ..लेकिन जब ये था तो सबसे खतरनाक रोगों में से एक था..
उस समय स्माल पॉक्स होन्स पर मृत्यु दर वयस्क में 45% और बच्चों में 90% थी!!
वैक्सिनेशन का इससे अच्छा उदाहरण शायद ही कही दिखे!!
लिस्ट बहुत लंबी है..पोलियो.. एड्स..COPD.. इन्फ्लुएंजा.स्ट्रोक...और ना जाने कितनी बीमारिया है जिन्होंने बहुत बड़े लेवल पे लोगो को एफेक्ट किया है..इनमे से कुछ का कोई ट्रीटमेंट नही..बस उम्मीद है मेडिकल साइंस जल्द ही इनका भी उपचार खोज ही लेगा..

Comments