भारत के अलावा पांच देश है जो 15 अगस्त को अपनी आजादी के रूप में मनाते हैं ! five countries which celebrate 15 August as their independence.

प्रेम सिंह (Prem Singh)
भारत के अलावा ये 5 देश भी 15 अगस्त को मनाते हैं आजाद का जश्न देशवासी इस साल अपनी आजादी की 73वीं सालगिरह मनाने जा रहे हैं। अंग्रेजों की करीब 200 की गुलामी से मुक्ति मिले 72 साल पूरे हो जाएंगे। लेकिन शायद यह कम लोगों को ही पता होगा कि दुनिया के पांच देश ऐसे हैं जो 15 अगस्त को ही भारत के साथ अपना स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं। तो आइए जानते हैं भारत के अलावा और कौन से हैं ये देश- 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाने वाले देशों के नाम हैं- नॉर्थ कोरिया, साउथ कोरिया, कांगो, बहरीन और लिकटेंस्टीन। दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया की आजादी दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया को आज से 74 साल पहले जापानी कॉलोनाइजेशन से 15 अगस्त 1945 में मुक्ति मिली थी। दक्षिण कोरिया और नॉर्थ कोरिया इस साल अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं। रिपब्लिक ऑफ कांगो में स्वतंत्रता दिवस रिपब्लिक ऑफ कांगो मध्य अफ्रीकी देश है जिसे 15 अगस्त 1960 में आजादी मिली थी। इस प्रकार कांगो अपना 60 वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। लिकटेंस्टीन की आजादी का दिन 15 अगस्त यूरोपीय देश लिकटेंस्टीन को भी 15अगस्त के दिन आजादी …

The Untold Facts About Internet.. You Never Know Before

इंटरनेट से जुड़े  रोचक तथ्य

The Untold Facts About Internet.. Who Send First Email?The First Tweet ?Who Uploaded First Picture On Internet? 12 Facts Of The Internet

इंटरनेट 20वीं सदी का सबसे क्रांतिकारी आविष्कार है. हो भी क्यों न, इस एक आविष्कार ने हमारी ज़िंदगी की कायापलट ही कर दी है. इंटरनेट हमारे जीवन में ऐसा रच-बस चुका है कि आज दुनिया के कई हिस्सों में इंटरनेट के बिना ज़िंदगी की कल्पना करना भी मुश्किल है. आज भले ही इंटरनेट पर अरबों की संख्या में वीडियोज़, ट्वीट और पोस्ट्स हों, लेकिन इंटरनेट की पहली चीज़ों के बारे में अगर आपको नहीं पता है, तो क्या फ़ायदा.
आइए जानते हैं, इंटरनेट की दुनिया में अपनी धाक जमा चुकी कुछ कंपनियों ने कैसे की थी अपनी शुरुआत.
1. दुनिया का सबसे पहला ई-मेल 1971 में, रे टॉमलिसन ने अपने आपको भेजा था. उन्होंने इस ईमेल के बारे में बात करते हुए कहा था कि 'वो मैसेज एक तरह से टेस्ट मेसेज था और उसमें ऐसा कुछ नहीं था जिसे याद रखा जा सके. मुझे जहां तक याद है, वो मेसेज QWERTYIOP या ऐसा ही कुछ रहा होगा'.
2. दुनिया का पहला Domain Name, Symbolics.com था. इसे 15 मार्च 1985 को रजिस्टर किया गया था. आज इसे एक ऐतिहासिक साइट माना जाता है.
3 दुनिया की पहली वेबसाइट वर्ल्ड वाइड वेब से जुड़ी जानकारियों के लिए डेडिकेट की गई थी. ये वेबसाइट 6 अगस्त 1991 को लाइव हुई थी.


4. इंटरनेट पर सबसे पहली तस्वीर टिम बर्नर्स ली ने अपलोड की थी. टिम बर्नर्स ली, www यानि वर्ल्ड वाइड वेब के आविष्कारक थे. उन्होंने ये तस्वीर कॉमेडी बैंड, Les Horrible Cernettes की तरफ़ से अपलोड की थी.
5. दुनिया का सबसे पहला AOL इन्स्टेंट मेसेज Ted Leonsis ने अपनी पत्नी को भेजा था. 6 जनवरी 1993 को भेजे गए इस मेसेज में उन्होंने लिखा था - 'डरना मत, ये मैं हूं. लव यू और मैं तुम्हें मिस कर रहा हूं'. वहीं उनकी वाइफ़ का जवाब था - 'वाह. ये कितना कूल है'. Leonsis इसके बाद AOL के वाइस चेयरमैन बन गए थे.
6. जॉय मैककेंबले पहले ऐसे इंसान थे जिन्होंने इंटरनेट पर पहली बैनर एड चलाई थी. ये अक्टूबर 1994 में Hotwired पर लाइव हुआ था और इसने 7 आर्ट म्यूज़ियम प्रमोट किए थे, जिन्हें AT&T ने स्पॉन्सर किया था.


7. एमेज़ॉन पर दुनिया की सबसे पहली किताब 1995 में बिकी थी. इस किताब का नाम Douglas Hofstadter's Fluid Concepts and Creative Analogies: Computer Models of the Fundamental Mechanisms of Thought था.
9. स्काईप पर सबसे पहले शब्द इस्टोनियन भाषा में बोले गए थे. अप्रैल 2003 में स्काइप की डेवलपमेंट टीम के एक सदस्य के ये शब्द थे - 'Tere, kas sa kuuled mind?' जिसका हिंदी में अर्थ होता है 'हेलो, क्या आप मुझे सुन सकते हैं?'
10. फ़ेसबुक के पहले तीन अकाउंट्स को टेस्टिंग के लिए इस्तेमाल किया गया था. फ़ेसबुक पर चौथा अकाउंट और आधिकारिक रूप से पहला अकाउंट इस कंपनी के मालिक मार्क ज़ुकरबर्ग ने बनाया था. फ़ेसबुक पर पहला नॉन-फ़ाउंडर अकाउंट Arie Hasit ने बनाया था, जो अब इज़रायल में पढ़ाई करते हैं.

11. यूट्यूब पर दुनिया का सबसे पहला वीडियो, इस कंपनी के को-फ़ाउंडर जावेद करीम ने अपलोड किया था. जावेद इस वीडियो में सैन डिऐगो चिड़ियाघर में दिखाई दे रहे हैं. 23 अप्रैल 2005 को अपलोड किए गए इस वीडियो को अब तक 1 करोड़ से ज़्यादा बार देखा जा चुका है.

12. दुनिया का सबसे पहला ट्वीट इस कंपनी के को-फ़ाउंडर, जैक डॉर्सी ने 21 मार्च 2006 को किया था.


Comments