जर्मनी के दिलचस्प अनकहे तथ्य ! Interesting Untold Facts of Germany

वरूण चौहान (Varun Chauhan)
जर्मनी में एक कैदी के लिए कोई सजा नहीं है जो जेल से भागने की कोशिश करता है, क्योंकि यह मुक्त होने के लिए एक स्वाभाविक मानव वृत्ति है।जर्मनी में 65% राजमार्ग (ऑटोबान) की कोई गति सीमा नहीं है।जर्मनी का एक-तिहाई हिस्सा अभी भी जंगलों और जंगली जमीन से भरा है। जर्मनी यूरोप का सातवाँ सबसे बड़ा देश है, जनसंख्या 81 मिलियन।बर्लिन में यूरोप का सबसे बड़ा ट्रेन स्टेशन है।बर्लिन पेरिस से 9 गुना बड़ा है और इसमें वेनिस की तुलना में अधिक पुल हैं।जर्मनी में 1,500 से अधिक विभिन्न किस्म की बियरें हैं। जर्मनी दुनिया के सबसे घनी आबादी वाले देशों में से एक है।जर्मनी नौ अन्य देशों के साथ सीमाएँ साझा करता हैं। डेनमार्क, पोलैंड, चेक गणराज्य, ऑस्ट्रिया, स्विट्जरलैंड, फ्रांस, बेल्जियम, लक्जमबर्ग और नीदरलैंड।जर्मनी दुनिया के सबसे बड़े कार उत्पादकों में से एक है। पहली मुद्रित (प्रिंटिड) पुस्तक जर्मन में थी।जर्मनी दुनिया के प्रमुख पुस्तक राष्ट्रों में से एक है। हर साल लगभग 94,000 शीर्षकों का प्रकाशन होता है।पहली बार देखी गई पत्रिका 1663 में जर्मनी में लॉन्च की गई थी। जर्मन दुनिया भर में स…

एक ऐसा अजीब देश जहा मर्द करते हैं गुलामी महिलाओं का !! Strange Country


एक ऐसा अजीब देश जहा मर्द करते हैं गुलामी

महिलाओं के   !! Strange Country




दुनिया में भले ही कोई भी पुरुष किसी महिला की गुलामी नहीं करना चाहता हो लेकिन इस दुनिया में एक देश ऐसा भी है, जहां पुरुष सिर्फ महिलाओं की गुलामी करते हैं। इतना ही नहीं, जिन्हें महिलाओं की गुलामी करने में मजा आता है, वे यहां आकर खुश रहते हैं। हैरानी वाली बात यह है कि इस देश में महिलाएं ही शासन करती हैं और पुरुष जीवनभर उनके गुलाम ही रहते हैं।पुरुषों को गुलाम बनाकर रखने वाले इस देश का नाम है ‘अदर वर्ल्ड किंगडम’हैं जो 1996 में एक यूरोपीय देश, चेक रिपब्लिक, से अलग होकर बना था। हालांकि इस भू-भाग को देश भी नहीं कहा जा सकता है क्योंकि दुनिया के अन्य राष्ट्रों ने इसे किसी देश का दर्जा नहीं दिया है।

इस देश की रानी पैट्रीशिया-1 है, जिसका यहां एकछत्र राज चलता है। यहां की मूल निवासी का दर्जा सिर्फ महिलाएं को ही मिलता है और पुरुषों का प्रवेश इस देश में केवल गुलामों के तौर पर होता है। यहां पुरुषों को गुलामों के अलावा और कुछ भी नहीं समझा जाता। इस देश में दूसरे देश से आए पुरुषों को रानी के बैठने के लिए सोफा बनना पड़ता है, जिस पर वह बैठती हैं।

यही नहीं, यहां अगर पुरुषों को शराब पीना है तो ऐसा करने से पहले उसे अपनी मालकिन के पैरों में शराब चढ़ानी पड़ती है और इसके बाद ही गुलाम इसे पी सकता है। यहां कोई भी काम महिलाओं की इजाजत के बिना पुरुष नहीं कर सकते, वहीं पुरुषों के लिए सख्त कानून भी बने हैं और जो पुरुष इन कानूनों का पालन नहीं करता उन्हें सख्त सजा से गुजरना पड़ता है।

Comments