दुनिया की सबसे महंगी सब्जी | World Most Expensive Vegetable

दुनिया में कई तरह की सब्जियां हैं कुछ सब्जियां जो हम नॉर्मल लाइफ में रोजाना खाते हैं। लेकिन कुछ सब्जियां ऐसी हैं। जिसके दाम के बारे में सुनकर आप दंग रह जाएंगे। आज इसी विषय में जानने की कोशिश करेंगे दुनिया की सबसे महंगी सब्जी के बारे में। तो आइये इसके बारे में जानते हैं विस्तार से।
हॉप शूट्स।आपको बता दें की ये सब्जी दुनिया की सबसे महंगी सब्जी हैं। आमतौर पर यह सब्जी 1000 यूरो प्रति किलो बिकती है यानी भारतीय रुपये में कहें तो इसकी कीमत 80 हजार रुपये किलो के आसपास है। इसे खरीद पाना नॉर्मल इंसान के बस में नहीं हैं।आपको बता दें की इस हॉप का इस्तेमाल जड़ी-बूटी के तौर पर भी किया जाता है। सदियों से इसका इस्तेमाल दांत के दर्द को दूर करने से लेकर टीबी के इलाज तक में होता रहा है। हॉप में ऐंटीबायॉटिक की प्रॉपर्टी पाई जाती है जो इंसान के हेल्थ के लिए बहुत फायदेमंद हैं। इससे शरीर की कई बीमारियां दूर हो जाती हैं और इंसान खुद को सेहतमंद महसूस करता हैं।यह सदाबहार सब्जी है जो साल भर उगाई जा सकती है। लेकिन ठंडी के मौसम को इसके लिए ठीक नहीं माना जाता है। मार्च से लेकर जून तक इसकी खेती के लिए आदर्श समय मान…

ISRAEL ने निभाया वादा सीमा पर तैनात हुई Spyder Missile System

ISRAEL ने निभाया वादा सीमा पर तैनात हुई Spyder Missile System

 

पाकिस्तान से लगी सीमा पर सैनिकों की मदद के लिए पहली बार इजराइल से आया एयर डिफेंस सिस्टम तैनात कर दिया गया है। अब पाकिस्तान की तरफ से आने वाले किसी भी हवाई खतरे को ये सिस्टम पलभर में ढेर कर देगा। 


इजराइली डिफेंस कंपनी राफेल द्वारा बनाया गया यह सिस्‍टम किसी भी एयरक्राफ्ट, क्रूज मिसाइल, सर्विलांस प्‍लेन या फिर हर उस ड्रोन का पता लगाएगा जो भारत के एयरस्‍पेस का उल्‍लंघन करेंगे। पाकिस्‍तान की ओर से भारत पर हर पल खतरा बढ़ता जा रहा है। ऐसे में भारत को अपनी तैयारियां पूरी रखनी थी। इन्‍हीं तैयारियों का हिस्‍सा बनते हुए देश की पश्चिमी सीमा पर इजरायली एयर मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम स्‍पाइडर को तैनात किया गया है, जिसे अंतराष्‍ट्रीय बॉर्डर की ताकत बढ़ाने के मकसद से तैनात किया गया है।
  
यहां बता दें कि पिछली 11 मई को भारत ने स्पाइर मिसाइल सिस्टम का परीक्षण किया था। स्पाइडर कम समय में हवा में दुश्मन पर हमला करने के लिए बनाई गई सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल है। कम उंचाई में इसकी मारक क्षमता 15 किलोमीटर तक है। हालांकि यह भारत में निर्मित सतह से हवा में मार करने में सक्षम आकाश मिसाइल से छोटी है, लेकिन इसका एडवांस्ड नेविगेशन किसी भी खतरे को भांपने और उस पर हमला करने के लिए तुरंत तैयार रहता है। 

Comments