जर्मनी के दिलचस्प अनकहे तथ्य ! Interesting Untold Facts of Germany

वरूण चौहान (Varun Chauhan)
जर्मनी में एक कैदी के लिए कोई सजा नहीं है जो जेल से भागने की कोशिश करता है, क्योंकि यह मुक्त होने के लिए एक स्वाभाविक मानव वृत्ति है।जर्मनी में 65% राजमार्ग (ऑटोबान) की कोई गति सीमा नहीं है।जर्मनी का एक-तिहाई हिस्सा अभी भी जंगलों और जंगली जमीन से भरा है। जर्मनी यूरोप का सातवाँ सबसे बड़ा देश है, जनसंख्या 81 मिलियन।बर्लिन में यूरोप का सबसे बड़ा ट्रेन स्टेशन है।बर्लिन पेरिस से 9 गुना बड़ा है और इसमें वेनिस की तुलना में अधिक पुल हैं।जर्मनी में 1,500 से अधिक विभिन्न किस्म की बियरें हैं। जर्मनी दुनिया के सबसे घनी आबादी वाले देशों में से एक है।जर्मनी नौ अन्य देशों के साथ सीमाएँ साझा करता हैं। डेनमार्क, पोलैंड, चेक गणराज्य, ऑस्ट्रिया, स्विट्जरलैंड, फ्रांस, बेल्जियम, लक्जमबर्ग और नीदरलैंड।जर्मनी दुनिया के सबसे बड़े कार उत्पादकों में से एक है। पहली मुद्रित (प्रिंटिड) पुस्तक जर्मन में थी।जर्मनी दुनिया के प्रमुख पुस्तक राष्ट्रों में से एक है। हर साल लगभग 94,000 शीर्षकों का प्रकाशन होता है।पहली बार देखी गई पत्रिका 1663 में जर्मनी में लॉन्च की गई थी। जर्मन दुनिया भर में स…

ISRAEL ने निभाया वादा सीमा पर तैनात हुई Spyder Missile System

ISRAEL ने निभाया वादा सीमा पर तैनात हुई Spyder Missile System

 

पाकिस्तान से लगी सीमा पर सैनिकों की मदद के लिए पहली बार इजराइल से आया एयर डिफेंस सिस्टम तैनात कर दिया गया है। अब पाकिस्तान की तरफ से आने वाले किसी भी हवाई खतरे को ये सिस्टम पलभर में ढेर कर देगा। 


इजराइली डिफेंस कंपनी राफेल द्वारा बनाया गया यह सिस्‍टम किसी भी एयरक्राफ्ट, क्रूज मिसाइल, सर्विलांस प्‍लेन या फिर हर उस ड्रोन का पता लगाएगा जो भारत के एयरस्‍पेस का उल्‍लंघन करेंगे। पाकिस्‍तान की ओर से भारत पर हर पल खतरा बढ़ता जा रहा है। ऐसे में भारत को अपनी तैयारियां पूरी रखनी थी। इन्‍हीं तैयारियों का हिस्‍सा बनते हुए देश की पश्चिमी सीमा पर इजरायली एयर मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम स्‍पाइडर को तैनात किया गया है, जिसे अंतराष्‍ट्रीय बॉर्डर की ताकत बढ़ाने के मकसद से तैनात किया गया है।
  
यहां बता दें कि पिछली 11 मई को भारत ने स्पाइर मिसाइल सिस्टम का परीक्षण किया था। स्पाइडर कम समय में हवा में दुश्मन पर हमला करने के लिए बनाई गई सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल है। कम उंचाई में इसकी मारक क्षमता 15 किलोमीटर तक है। हालांकि यह भारत में निर्मित सतह से हवा में मार करने में सक्षम आकाश मिसाइल से छोटी है, लेकिन इसका एडवांस्ड नेविगेशन किसी भी खतरे को भांपने और उस पर हमला करने के लिए तुरंत तैयार रहता है। 

Comments