कुछ बातें जो सबको पता होना चाइये भारत मे

औरते पीरियड्स के दौरान मंदिर मे पैर नहीं रख सकती।

लड़का अपने से कम कमाने वाली लड़की से ही शादी करता है।

घर के दो बच्चो मे से एक इंजीनियर या डॉक्टर तो बनेगा ही बनेगा।

कितनी भी अच्छी नौकरी क़र लो या खुश रह लो पर लोग तुम्हे सेटल शादी करने के बाद ही मानेंगे।

एक तरफ़ा रोड को भी दोनों तरफ देख क़र पार करना पड़ता है।

रोड पर आप किस नहीं क़र सकते पर सरे आम मूत जरूर सकते हो।

रिश्तेदार बस नाक मे दम करने के लिए ही होते है।

साल भर पोल्लुशण को ले क़र रो सकते है पर दिवाली पर सब जायज है।

मंगलवार और गुरुवार को नॉन वेज नहीं खाना है।

आई फोन वाले लोग अमीर ही होते है।

Bhumi Pednekar Life Story & Biography !! भूमि पेडनेकर की जीबन कहानी






भूमि पेडनेकर एक उभरती हुई बॉलिवुड कलाकार है। एक्टिंग में करियर करने से पहले उन्होंने यश राज बैनर के नीचे सहायक निर्देशक के तौर पर काम किया था। इसके बाद उन्होंने उसी कंपनी के साथ तीन फिल्मों के समझौते पर हस्ताक्षर किए। उन्होंने वर्ष 2015 में रिलीज़ हुई फिल्म "दम लगा के हईशा" के द्वारा अपना बॉलिवुड में पदार्पण किया। फिल्म ने रिलीज़ के बाद अच्छा कारोबार किया और लोगो ने उनके काम की काफी प्रशंसा भी की। इसी फिल्म के लिए उन्हें फिल्मफेयर के बेस्ट फीमेल डेब्यू के अवार्ड से सम्मानित भी किया गया।


भूमि" का जन्म 18 जुलाई 1989 को मुंबई में हुआ। उन्होंने अपनी पढ़ाई मुंबई में जुहू स्थितीत आर्य विद्या मंदिर में पूरी की। उनके पिता महाराष्ट्र से हैं और माँ हरियाणा से हैं।


उनकी एक फिल्म "दम लगा के हईशा" हाल के समय में रिलीज़ हो चुकी है। इस फिल्म में वह अभिनेता "आयुष्यमान खुराना" के साथ नज़र आई थी। फिल्म में उन्होंने एक शादीशुदा औरत का किरदार निभाया था। फिल्म ने भारत में अच्छा कारोबार किया है। उन्हें इस फिल्म के लिए "फिल्मफेयर अवॉर्ड, प्रोड्यूसर्स गिल्ड फिल्म अवॉर्ड्स, स्क्रीन अवार्ड्स, ज़ी सिने अवार्ड्स, स्ट्रडस्ट अवार्ड्स, बिग स्टार एंटरटेनमेंट अवार्ड्स और इंटरनेशनल फिल्म अकादमी पुरस्कार सहित 6 पुरस्कार प्राप्त हुए हैं।


 

जल्दी ही वह अपने पहले सह-अभिनेता "आयुष्यमान खुराना" के साथ फिल्म "शुभ मंगल सावधान" में नज़र आएँगी। स्वच्छ भारत के मिशन पर बानी फिल्म "टॉयलेट:एक प्रेम कथा" में भी उनका अहम किरदार है।






Comments