Kobita - শৈশবের হাসি-খেলা ! শিরিন সুলতানা

শৈশবের হাসি-খেলা   শিরিন সুলতানা

নেবে কি আমায় তোমাদের সাথে?
দিগন্ত ছুঁয়ে দিবো হাত রেখে হাতে।

 সাঝ-সকালে সবাই মিলে
বকুলতলায়
ফুল কুড়িয়ে ভরবো ঝুড়ি,
অলস দুপুর কাটিয়ে দিবো
খেলবো মোরা লুকোচুরি।

টুনটুনির ঐ বাসার খুঁজে ভাঙবো মোরা ডুমুর ডাল,
মার্বেল তুমি বেশ তো খেলো
আমায়ও শিখিয়ে দিও খেলার চাল।

বৈশাখের দমকা হাওয়ায়
আম কুঁড়াবো
মাথায় দিয়ে কচুপাতার ছাতি
নুন,তেল,আর দুমুঠো চাল
কুড়িয়ে এনে শুকনো ডাল
খেলবো সবে চড়ুইভাতি।

নেবে কি আমায় তোমাদের সাথে
দিবে কি খানিক হাসির ভাগ?
তোমার আইসক্রীমের আধেক দিও
গাল ফুলিয়ে করলে রাগ।

নেবে কি আমায়, তোমাদের এই হাসি হাসি খেলায়?
আমার শৈশব যে হারায়েছি আমি, হাসি হারায়েছি অবহেলায়।

আজ নাহয় দুধভাত করেই নিও আমায় তোমাদের সাথে,
অনেক মজা করবো সবাই খেলবো সবাই হাত রেখে হাতে।

শৈশবের হাসি-খেলা
~শিরিন সুলতানা

ईरान के कुछ अजीबोगरीब कानून ! Some Strange Laws of Iran






ईरान एक ऐसा इस्लामिक देश है जहां के कानून समझना हर किसी के बस की बात नहीं। यहां इतने अजीबोगरीब कानून हैं जो दुनिया के किसी और देश में आपको नहीं मिलेंगे। हाथ मिलाने से लेकर सेक्स करने तक यहां कई तरह की पाबंदियां लगाई जाती हैं। सबसे ज्यादा कानून यहां महिलाओं के लिए बनाए गए हैं जो बेहद चौंकाने वाले हैं। आज हम आपको बता रहे हैं ईरान के ऐसे ही 10 कानून के बारे में। बेटी से शादी कर सकता है पिता...
- ईरान में 2013 में ऐसा विवादित कानून पास हुआ, जिसके तहत कोई भी पिता अपनी गोद ली हुई बेटी से शादी कर सकता है। बस बेटी की उम्र कम से कम 13 साल होनी चाहिए। हालांकि, इस घटिया कानून का जमकर विरोध भी हुआ था।
महिलाओं के लिए अजीब कानून
- यहां महिलाओं का गैर मर्दों से हाथ मिलाना अपराध है। पब्लिक में अगर महिला किसी पुरुष से हाथ मिलाती पाई जाती है तो उसे अरेस्ट भी किया जा सकता है।
कानून को लेकर हमेशा विवादों में
- ईरान हमेशा से ही अपने अजीब कानून को लेकर विवादों में रहता है। हाल ही में ईरान की सरकार ने अर्थव्यवस्था और महंगाई को लेकर भी कई बदलाव किए हैं जिसके बाद वहां आक्रामक प्रदर्शन किए जा रहे हैं। इसमें अबतक 12 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। और सैकड़ों लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।
- प्रदर्शनकारी देश में बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी और आर्थिक गैरबराबरी के खिलाफ रैली कर रहे हैं। कुछ प्रदर्शनकारी देश की विदेश नीति और को लेकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं।
नहीं बख्शेगी सरकार
ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी ने माना है कि चरमराती अर्थव्यवस्था को लेकर लोगों में गुस्सा है लेकिन साथ ही उन्होंने चेतावनी भी दी है कि कानून तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने से सरकार हिचकिचाएगी नहीं।




Comments