कबीरदास जी ने ऐसा क्या किया कि उनके गुरू भी उनके सामने नतमस्तक हो गए

Neeta Kohli (नीता कोहली),
एक बार गुरु रामानंद ने कबीर से कहा, "कबीर,आज श्राद्ध का दिन है और पितरों के लिये खीर बनानी हैआप जाइये,पितरों की खीर के लिये दूध ले आइये।" कबीर उस समय छोटी आयु के ही थे.. कबीर दूध का बरतन लेकर चल पडे।चलते चलते आगे एक गाय मरी हुई पड़ी मिली।कबीर ने आस पास से घास को उखाड कर,गाय के पास डाल दिया और वही पर बैठ गये। दूध का बरतन भी पास ही रख लिया। काफी देर हो गयी,कबीर लौटे नहीं, तो गुरु रामानंद ने सोचा,पितरों को छिकाने का समय हो गया है,कबीर अभी तक नही आया,तो रामानंद जी खुद दूध लेने चल पड़े। चले जा रहे थे तो आगे देखा कि कबीर एक मरी हुई गाय के पास बरतन रखे बैठे है। गुरु रामानंद बोले,"अरे कबीर,तू दूध लेने नही गया?" कबीर बोले: स्वामीजी,यह गाय पहले घास खायेगी तभी तो दूध देगी...!!! रामानंद बोले:अरे,यह गाय तो मरी हुई है,यह घास कैसे खायेगी? कबीर बोले: स्वामी जी,यह गाय तो आज मरी है....जब आज मरी गाय घास नही खा सकती,तो आपके 100 साल पहले मरे हुए पितर खीर कैसे खायेंगे? यह सुनते ही रामानन्दजी मौन हो गये।उन्हें अपनी भूल का अहसास हुआ। माटी का एक नाग बना के पुजे …

हवाई जहाज के बारे में कुछ रोचक तथ्य ! Some Interesting Facts About Airplanes




 
1- हवाई जहाज के आविष्कार का श्रेय विल्बर और ओरविल राइट बंधुओ को जाता है।
2- हवाई को इस तरह डिजाइन किया जाता है कि इनपर आसमानी बिजली गिरने का भी असर नहीं होता। पूरी दुनिया में हर रोज करीब 2 लाख हवाई जहाज उड़ान भरते हैं।
3- पूरी दुनिया की सिर्फ पांच फीसदी आबादी ही अब तक हवाई जहाज में सफर कर पाई है।
4- ज्यादातर यात्रियों को शिकायत रहती है कि प्लेन में खाना बहुत गन्दा होता है, लेकिन इसमें जहाज की कोई गलती नहीं है। दरअसल, ऊँचाई पर जाकर वातावरण बदल जाता है। वहाँ मीठी चीज़ें भी कम मीठी लगती है और नमकीन चीज़ें कड़वी जैसे लगने लगती हैं।
5- हवाई जहाज में जो खाना परोसा जाता है उसमे नमक की मात्रा ज्यादा होती है क्योंकि ऊंचाई पर उड़ते समय दबाव के कारण हमारा टेस्ट बदल जाता है जिसके कारण हमे इसका पता नहीं लगता।
6- हवाई जहाज में पायलट और सह-पायलट को अलग अलग तरह का खाना परोसा जाता है क्योंकि अगर एक खाने से किसी एक पायलट की तबियत ख़राब हो जाये तो दूसरा हवाई जहाज चला सके।
7- साल में एक बार तो हर हवाई जहाज पर आसमानी बिजली जरूर गिरती है, लेकिन 1963 के बाद से जहाजों पर बिजली गिरने से एक भी हादसा नहीं हुआ है।
8- हवाई जहाज में पीछे की बीचों बीच वाली सीट सबसे ज्यादा सुरक्षित होती है यानि प्लेन हादसे के दौरान केवल यही सीट सबसे ज्यादा सेफ होती है।
9- कुछ हवाई जहाजों में सीक्रेट बेडरूम भी होते हैं जहाँ प्लेन के कर्मचारी आराम कर सकते हैं।
10- कुछ लोग मानते हैं कि हर हवाई उड़ान के बाद हवाई जहाज के टायर बदले जाते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है क्योंकि हवाई जहाज के टायर 38 टन वजन तक सह सकते हैं और 170 मील प्रति घंटा की रफ़्तार से जमीन पर भी उतर सकते हैं। सैकड़ों उड़ान भरने के बाद अगर टायर खराब होते हैं तभी बदले जाते हैं।
11- रात में लैंडिंग के दौरान जहाह के अंदर की लाइट डिम कर दी जाती है ताकि प्लेन से उतरने के बाद यात्रियों की आखों पर जोर ना पड़े।
12- प्लेन में दो इंजन होते हैं, लेकिन प्लेन एक इंजन पर भी आराम से चल सकता है।
13- प्लेन के बाथरूम में ashtrays यानि राख भी रखी होती है ताकि अगर कोई सिगरेट जलाता है तो उसे बुझाई जा सके। प्लेन में स्मोकिंग प्रतिबंधित है।
14- हवाई जहाज की खिड़की के शीशों में एक बहुत छोटा छेद होता है। दरअसल, ये छेद प्लेन में प्रेशर को बनाए रखता है।
15- वैसे तो हवाई जहाज बिना पायलट के भी अपने आप उड़ता है, लेकिन यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कण्ट्रोल रूम में पायलट का होना अनिवार्य होता है।
16- हर प्लेन में यात्रियों के लिए ऑक्सीजन मास्क होते हैं, लेकिन कोई ये नहीं जानता कि ऑक्सीजन मास्क में केवल 15 मिनट लायक ही ऑक्सीजन होती है।
17- हवाई जहाज का सबसे खतरनाक एक्सीडेंट 1977 में हुआ था। जब दो फुल भरे प्लेन जिनमें 600 यात्री सवार थे, जो आमने सामने रनवे पर एक दूसरे से टकरा गए थे और 500 लोगों की मौत हो गई।

Comments