कंडोम के कुछ मज़ेदार उपयोग

जितेन्द्र प्रताप सिंह (Jitendra Pratap Singh)
कुछ साल पहले उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग बहुत खुश हुआ जब बनारस के बुनकरों में मुफ्त में बांटे जाने वाले कंडोम की मांग खूब बढ़ गई। स्वास्थ्य विभाग यह सोच रहा था कंडोम बांटने से बुनकरों के जनसंख्या वृद्धि रुकेगी और कंडोम का सही इस्तेमाल होगा लेकिन जब पता चला कि बनारसी साड़ी बनाने वाले बुनकर मुफ्त में मिलने वाले कंडोम का इस्तेमाल साड़ी बनाने में कर रहे हैं तब ना सिर्फ उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग बल्कि पूरी दुनिया चौक उठी थी साड़ी बनाने वाले बुनकर कंडोम का इस्तेमाल अपने करघा पर करते हैं. साड़ियाँ तैयार करने में इस्तेमाल हो रहे हैं कंडोम दरअसल कंडोम में चिकनाई युक्त पदार्थ होता है और करघा पर लगाने से उसके धागे तेज़ी से चलते हैं और उनमें चमक भी आ जाती है. क्योंकि कंडोम में प्राकृतिक रबड़ यानी लैक्टेस होता है इसलिए बुनकर बुनाई के पहले धागों को कंडोम से खूब रगड़ देते हैं जिससे धागे में इतनी अच्छी चिकनाई आ जाती है इस साड़ी की बुनाई करते समय धागा फसता नहीं है और बुनाई तेजी से होता है और साड़ियों में बहुत अच्छी प्राकृतिक चमक आ जात…

बादाम को भिगोकर खाना चाहिए या सूखे ही खाना चाहिए,दोनों में क्या अंतर है !




बादाम (Almonds) से मिलने वाली ताकत के बारे में ज्यादातर लोग जानते हैं, पर वे ये नहीं जानते कि इसे खाया कैसे जाए. इसका कारण है इसके सेवन से जुड़ी बातें.
कई लोग कहते हैं कि बादाम को भिगोकर खाना चाहिए, तो कई कहते हैं कि इसे सूखा खाने से भी उतने ही फायदे मिलते हैं जितने किसी और तरीके से.
आप कैसे खाते हैं बादाम? समझ में नहीं आ रहा...कोई बात नहीं, हम आपको इसके सभी पक्षों के बारे में बताते हैं.
सूखे बादाम
सबसे पहले बात करते हैं बिना भिगोए बादामों की यानी सूखे बादाम. आयुर्वेद बताता है कि ये बादाम, ऊतकों की मरम्मत करता है और स्किन के लिए बहुत फायदेमंद होता है.
भीगे बादाम
बादाम में कई तरह के विटामिन, मिनरल्स पाए जाते हैं. इन सभी का पूरा फायदा मिले इसलिए बादाम को रातभर भिगोकर रखना अच्छा माना जाता है.
खाली पेट खा सकते हैं?
खाली पेट सूखे बादाम खाने से बचना चाहिए. इससे पित्त बढ़ता है, पाचन संबंधी समस्याएं हो जाती हैं.
सूखे या भीगे, कौन से बेहतर?
सूखे बादाम खाने पर इसके छिलकों को पचा पाना मुश्किल होता है. इससे खून में पित्त की मात्रा बढ़ती है. बादाम के छिलके में टैनिन होता है जो पोषक तत्वों को अवशोषित होने से रोकता है. जब बादाम को भिगोया जाता है तो उससे छिलका निकल जाता है और इसके सारे पोषक तत्व शरीर को मिल जाते हैं. भीगे बादाम पाचन में मददगार होते हैं, दिल की सेहत अच्छी रहती है. ये एंटी ऑक्सिडेंट से भरपूर होते हैं.
एक दिन में कितना खाएं?
ज्‍यादा मात्रा में बादाम खाने से स्किन संबंधी परेशानियां और पाचन क्रिया प्रभावित हो सकती है. इसलिए आप एक दिन में आठ से दस बादाम खा सकती हैं.
बादाम के फायदे
बादाम खाने के कई फायदे हैं. ये दिल को स्वस्थ रखने में सहायक है, पाचन प्रक्रिया में सुधार होता है. ये बालों को स्‍वस्‍थ और मजबूत बनाने में सहायक है, स्मृति को बढ़ावा देने में मददगार है. इससे बैड कोलेस्‍ट्रॉल कम होता है.

Comments