गेहूं और चावल दोनों में कौन अधिक पौष्टिक है ! Which is more nutritious in both wheat and rice

कुछ लोग रोटी खाने के तो कुछ लोग चावल के शौकीन होते है। क्योंकि ये ऐसे खाद्य पदार्थ है। जिसे साल के बारह महीने लोग खाना पसंद करते है, पर आज तक लोगों को सही से यह नहीं पता है कि रोटी और चावल इन दोनों अनाजों में से कौन ज्यादा बेहतर है। क्योंकि ये दोनों अनाज अपने आप में एक बेहतरीन भोजन का काम करते है। तो ऐसे में आइये जानते है इन दोनों में से कौन से हमारे स्वास्थ्य के लिए ज्यादा फायदेमंद है:- इन दोनों अनाजों को आप अपने नाश्ते के साथ -साथ लंच में और डिनर में भी खा सकते हैं। इसके साथ ही गेहूं से बनी रोटी का सेवन आप सब्जी के साथ भी कर सकते है। इसी तरह चावल भी आप दाल, सब्जी के साथ खा सकते है। इन दोनों अनाजों में भरपूर मात्रा में पौष्टिक तत्व होते है जो हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद होते है। अगर हम बात करें, इन दोनों अनाज के नुकसान के बारे में तो वैसे तो इसके सेवन से कोई भी हमारे शरीर को नुकसान नहीं पहुँचता। मगर आज के समय में शुद्ध चावल और गेहूं का आटा मिलना भी अपने आप में बहुत बड़ी बात है। ज्यादातर लोगों का सवाल अभी भी यही होता है कि कौन-सा अनाज ज्यादा बेहतर होता है। अगर हम ज्याद…

बादाम को भिगोकर खाना चाहिए या सूखे ही खाना चाहिए,दोनों में क्या अंतर है !




बादाम (Almonds) से मिलने वाली ताकत के बारे में ज्यादातर लोग जानते हैं, पर वे ये नहीं जानते कि इसे खाया कैसे जाए. इसका कारण है इसके सेवन से जुड़ी बातें.
कई लोग कहते हैं कि बादाम को भिगोकर खाना चाहिए, तो कई कहते हैं कि इसे सूखा खाने से भी उतने ही फायदे मिलते हैं जितने किसी और तरीके से.
आप कैसे खाते हैं बादाम? समझ में नहीं आ रहा...कोई बात नहीं, हम आपको इसके सभी पक्षों के बारे में बताते हैं.
सूखे बादाम
सबसे पहले बात करते हैं बिना भिगोए बादामों की यानी सूखे बादाम. आयुर्वेद बताता है कि ये बादाम, ऊतकों की मरम्मत करता है और स्किन के लिए बहुत फायदेमंद होता है.
भीगे बादाम
बादाम में कई तरह के विटामिन, मिनरल्स पाए जाते हैं. इन सभी का पूरा फायदा मिले इसलिए बादाम को रातभर भिगोकर रखना अच्छा माना जाता है.
खाली पेट खा सकते हैं?
खाली पेट सूखे बादाम खाने से बचना चाहिए. इससे पित्त बढ़ता है, पाचन संबंधी समस्याएं हो जाती हैं.
सूखे या भीगे, कौन से बेहतर?
सूखे बादाम खाने पर इसके छिलकों को पचा पाना मुश्किल होता है. इससे खून में पित्त की मात्रा बढ़ती है. बादाम के छिलके में टैनिन होता है जो पोषक तत्वों को अवशोषित होने से रोकता है. जब बादाम को भिगोया जाता है तो उससे छिलका निकल जाता है और इसके सारे पोषक तत्व शरीर को मिल जाते हैं. भीगे बादाम पाचन में मददगार होते हैं, दिल की सेहत अच्छी रहती है. ये एंटी ऑक्सिडेंट से भरपूर होते हैं.
एक दिन में कितना खाएं?
ज्‍यादा मात्रा में बादाम खाने से स्किन संबंधी परेशानियां और पाचन क्रिया प्रभावित हो सकती है. इसलिए आप एक दिन में आठ से दस बादाम खा सकती हैं.
बादाम के फायदे
बादाम खाने के कई फायदे हैं. ये दिल को स्वस्थ रखने में सहायक है, पाचन प्रक्रिया में सुधार होता है. ये बालों को स्‍वस्‍थ और मजबूत बनाने में सहायक है, स्मृति को बढ़ावा देने में मददगार है. इससे बैड कोलेस्‍ट्रॉल कम होता है.

Comments