सैटेलाइट फोन क्या है? क्यों यह बहुत महंगा है?

सैटेलाइट फोन….. 'सैटेलाइट फोन को सेटफोन के नाम से भी जाना जाता है,ये हमारे फोन्स की तुलना में अलग होते हैं। क्योंकि यह लैंडलाइन या सेल्युलर टावरों की बजाय सैटेलाइट (उपग्रहों ) से सिग्नल प्राप्त करते हैं'। ( चित्र सैटेलाइटफोन ) इनकी खास बात यह होती है कि इनके द्वारा किसी भी स्थान से काॅल किया जा सकता है। यह हर जगह उपयोगी साबित होते हैं चाहे आप सहारा मरुस्थल में ही क्यों न हों। कहा तो यह भी जाता है कि यह पानी के अंदर भी आसानी से सिग्नल प्राप्त कर सकने में समर्थ होते हैं। सेटेलाइट फोन बस थोड़ा स्लो होते हैं (हमारे मोबाइल फोन के मुकाबले) यानी बातचीत के दौरान इसमें थोड़ी सी अड़चनों का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि इनके द्वारा भेजे गए सिग्लन को सेटेलाइट तक जाने और वहां से वापस लौट कर आने में ज्यादा समय लगता है।हालांकि यह कमी बहुत ही नगण्य है। यह ज्यादातर आपदाओं के समय हमे काफी सहायक सिद्ध होते जब हमारे सिस्टम बहुत हद तक ख़राब हो गये होते हैं। क्या हम सेटेलाइट फोन खरीद सकते हैं….. भारत में सैटेलाइट फोन खरीदने के लिए विशेष कानून बनाए गए हैं भारत ही नहीं हर देश में इसके लिए अलग…

दुनिया के 5 सबसे महत्वपूर्ण रहस्यमयी स्थान ! The world's 5 most important mysterious places

दोस्तों आज हम बात करेंगे 5 ऐसी जगह की, जहां किसी का भी इंसान का जाना मना है। जिनके पीछे छुपे हुए है बेहद अद्भुत रहस्य। तो चलिए जानते हैं इन रोचक रहस्य के बारे में।
1.) स्नेक आइलैंड (ब्राजील)
ब्राजील के एक शहर साओ पाउलो से लगभग 33 किलोमीटर दूरी पर स्थित है, एक ऐसा टापू जहां इंसानों का जाना सख़्त मना है। इस जगह का नाम है स्नेक आइलैंड। यह एक छोटा सा आयरलैंड, दुनिया के सबसे जहरीले सांपों से भरा हुआ है। इस आइलैंड पर लगभग 4000 सांपों का बसेरा है। दोस्तों इस दुनिया का सबसे जहरीला सांप “गोल्डन लेंस हैड” भी यहाँ पाया जाता है। कहा जाता है यह साप अपने ज़हर की 1 ग्राम मात्रा से 50 लोगों की जान ले सकता है। ऐसे ही हजारों जहरीले सांपों की वजह से इंसान को यहाँ पर जाना बेहद खतरनाक है। ब्राजील में 1909 में इस आइलैंड पर एक लाइट हाउस बनवाया गया था। जिससे की पानी के जहाजों को इस आइलैंड से दूर रखा जा सके। इस लाइट हाउस की देखभाल एक परिवार करता था। लेकिन दुर्भाग्यवश यह परिवार भी यहां के सांपों की चपेट में आ गया और परिवार के सभी सदस्य मृत पाए गए। जिसके बाद राज्य सरकार ने इस लाइट हाउस को पूरी तरह से ऑटोमेट कर दिया। और इस आइलैंड को इंसानों के लिए हमेशा हमेशा के लिए बंद कर दिया।
2.) ओकिगहारा (जापान)
जापान के माउंट फ़ूजी की तलहटी में स्थित है और “ओकिगहारा” जिसे सुसाइड फॉरेस्ट और “सी ऑफ़ ट्रीज” के नाम से भी जाना जाता है। यह जंगल जापान की सबसे मशहूर सुसाइड साइट है। इस जगह पर सामूहिक आत्महत्या की कई घटना सामने आई है। 2003 में इस जगह से 105 डेड बॉडीज को निकाला गया था। इन हत्याओं की वजह से जंगल को भूतिया भी कहा जाता है। इसके अलावा इस जंगल में लूटपाट की गई घटनाएं सामने आई है। लेकिन आज तक किसी ने भी इन लुटेरों को नहीं देखा। इस जंगल का एक रहस्य और है कि यहां पर किसी भी प्रकार का आधुनिक उपकरण जैसे मोबाइल जीपीएस कंपास आदि काम नहीं करता है।
3.) एरिया 51 (U.S.)
एरिया 51 यूनाइटेड स्टेट्स नावड़ा के दक्षिणी भाग में स्थित है। वहां की सरकार की इस जगह पर सिर्फ एक एयरपोर्ट बेस होने का दावा करती है। यह जगह यूनाइटेड स्टेट्स के एयर फोर्स द्वारा सन 1995 में विमानों की टेस्टिंग के लिए बनाई गई थी। जहां एक तरफ यूएस मिलिट्री दावा करती है इस जगह को नए और हाईटेक विमानों के निर्माण रिसर्च के लिए प्रयोग किया जाता है, वहीं दूसरी और बहुत से लोगों का कहना है कि यहां पर दुर्घटनाग्रस्त UFO को रखा हुआ है। और यहां पर UFO और एलियन पर प्रयोग किया जा रहा है। एयरोस्पेस इंजीनियर “वॉड बुशमैन” जिन्होंने एरिया 51 के प्रोजेक्ट पर लंबे समय तक काम किया था। उन्होंने कुछ फोटो शेयर की। फोटो में दिखने वाली चीज इंसानो जैसी तो बिल्कुल नहीं लगती। एलियन में की गई ऑटोप्सी की एक वीडियो में सामने आयी जिससे “वॉड बुशमैन” के खुलासों को और ज्यादा प्रमाणिकता मिलती है। ऐसे ही कई दिलचस्प किस्से एरिया 51 के बारे में बहुत मशहूर है। इसके बारे में हम आपको अगले पोस्ट में विस्तार से बताएंगें।
4.) सेंटिनल आइलैंड (भारत)
भारत के अंडमान निकोबार दीप समूह में स्थित है सेंटिनल आइलैंड। यह आइलैंड भारत के कुछ सबसे सुंदर आयरलैंड में से एक है। लेकिन इस आइलैंड पर कोई भी इंसान नहीं जा सकता, क्योंकि यहां रहते हैं सेंट निले ट्रैक। यह दुनिया की एकमात्र ऐसे लोग हैं, जो आज भी पाषाण योग का जीवन जी रहे है। इन्हें बाहर के लोगों का इस आइलैंड पर आना बिल्कुल भी पसंद नहीं है। जिसकी वजह से आयरलैंड तक पहुंचना मुश्किल और खतरनाक है। इनसे संपर्क बनाने की की गई आज तक की हर कोशिश नाकाम नहीं है। क्योंकि जब भी कोई इस आइलैंड के आसपास आता है तो यह लोग उस पर तीर और भालो से उन पर हमला कर देते हैं। और उनके साथ वही सलूक करते हैं, जो यह लोग अपने शिकार के साथ करते हैं।
5.) पोवेग्लिए आइलैंड (इटली)
दोस्तों इटली के वैनेटिनियन लैगून में स्थित एक छोटा सा आइलैंड है जिसका नाम है पोवेग्लिए आइलैंड। सन 1348 में इटली और वेनिश में रोबोनिक प्लेग फैला हुआ था। उस समय इस आइलैंड का उपयोग बीमार और मरे हुए लोगों की डेड बॉडी को रखने और उन्हें जलाने के लिए किया जाता था। सन 1630 में यहां पर एक बार फिर ब्लैक टाइप नामक बीमारी फैल गया। और एक बार फिर इस जगह का उपयोग मुर्दाघर के रुप में किया गया। 1922 ईस्वी में इस जगह का नवीकरण किया गया। और यहां पर एक हॉस्पिटल बनाया गया, लेकिन कुछ ही दिनों के बाद इस जगह का भूतिया होने की खबर सामने आई। इस जगह पर प्लेग से फैले हुए लोगों की भटकती हुई आत्माओं के डर से इस जगह को एक बार फिर से बंद कर दिया गया।

Comments