पहली बार जब घड़ी का आविष्कार हुआ , दुनिया की पहली घड़ी में समय कैसे मिलाया गया

कहते हैं की हाथ में पहनी हुई घड़ी न सिर्फ इन्सान को समय बताती है बल्कि इन्सान का समय भी बताती है। कंफ्यूज हो गये क्या? कभी आपने सोचा है कि घड़ी जो बिना रुके हर वक़्त चलती रहती है ; कहाँ बनी होगी? सबसे पहले घड़ी में टाइम कैसे सेट किया गया होगा? कहीं वो टाइम गलत तो नहीं ; वरना आज तक हम सब गलत समय जीते आ रहे हैं। इन्ही सब सवालों के साथ आज कुछ घड़ी अपनी घड़ी की बात करते हैं। कई सिद्धांतों पर बनती हैं घड़ियां जैसा की हम सब जानते हैं की घड़ी एक सिम्पल मशीन है जो पूरी तरह स्वचालित है और किसी न किसी तरह से वो हमे दिन का प्रहर बताती है। ये घड़ियाँ अलग अलग सिद्धांतों पर बनती हैं जैसे धूप घड़ी; यांत्रिक घड़ी और इलेक्ट्रॉनिक घड़ी। मोमबत्ती द्वारा समय का ज्ञान करने की विधि जब हम बचपन में विज्ञान पढ़ा करते थे तो आपको याद होगा की इंग्लैंड के ऐल्फ्रेड महान ने मोमबत्ती द्वारा समय का ज्ञान करने की विधि आविष्कृत की। उसने एक मोमबत्ती पर, लंबाई की ओर समान दूरियों पर चिह्र अंकित कर दिए थे। प्रत्येक चिह्र तक मोमबत्ती के जलने पर निश्चित समय व्यतीत होने का ज्ञान होता था। कैसे देखते थे समय बीते समय में प्राचीन …

भारत के अपराधी ब्रिटेन में ही क्यों शरण लेते हैं ! Why do the criminals of India take shelter in Britain?


 

बहुत अच्छा सवाल लोगो को सच की जानकारी नही है
कारण
भारत का कॉमनवेल्थ का सदस्य होना ।
● जिससे भारत सरकार को भी कई तरह के फायदे होते है । जैसे जिन देशो से भारत के राजदूत आवास नही होते है वहा अगर ब्रिटेन के राजनयिक सम्बन्ध है तो भारत उनकी मदद ले सकता है ।
● साथ ही भारतीय नागरिकों का ब्रिटेन की नागरिकता लेना आसान होता है । साथ ही अनेक तरह की प्रॉपर्टी अधिकार स्कॉलरशिप से लेकर अनेक सुविधाओं का लाभ मिलता है ।
● ऐसी सुविधाओं का लाभ अन्य कॉमनवेल्थ देश भी उठाते है ।
● इसके बदले ब्रिटेन भी लाभ लेता है जैसे रॉयल परिवार को कॉमनवेल्थ देश की यात्रा में वीजा की जरूरत नही होती साथ ही भारत मे अभी भी ब्रिटिश सरकार की काफी प्रोपर्टी है नॉर्थ ईस्ट में द्वितीय विश्वयुद्ध में मारे गए लोगो का कब्रिस्तान भी ब्रिटेन की क्षेत्र माना जाता है ।
● चूँकि इस सुविधा का लाभ सरकार और भारत का एलीट समाज दोनो उठाते है ऐसे में आम इंसान को सच कभी पता नही चलता है ।
● पिछले कुछ सालों में भारत और पाकिस्तान के लोगो की ब्रिटेन में आबादी बढ़ने का कारण भी यही रहा है ।
● भारत के कई अरबपति भारत से भागकर ब्रिटेन की नागरिकता ले लेते है ।

Comments