महिलाएं पुरुषों के किन अंगों को देखकर आकर्षित होती हैं ! Which parts of men are attracted by women?

मनोज लालवानी (Manoj Lalwani),


बात महिलाओं की पसन्द की है तो बहुत सारे विकल्प होने ज़रूरी हो जाते हैं। क्योंकि चुनने के लिए कम विकल्प होने से अधिकांश महिलाएँ तनाव में आ जाती हैं। यह विकल्प, सौभाग्यवश, बहुतेरे और सशरीर मौजूद हैं। अगर पुरुष के अंगों का ज़िक्र होगा तो उनका शरीर अपने आप आएगा। सबसे पहले बात करते हैं पुरुष शरीर की। मगर उस से पहले बात करनी पड़ेगी महिला की चाह की। क्योंकि महिला की चाह पुरुष का विशेष अंग नहीं होता, बल्कि उनका अंग प्रत्यंग होता है। और सिर्फ़ अंग प्रत्यंग ही नहीं, उसके साथ ना जाने कितने और रंग ज़रूरी हैं। तो बात करते हैं पुरुषों के इन्हीं अंग-प्रत्यंग, रंग-ढंग की महिलायें, पुरुष की उस चीज़ की तरफ़ सबसे ज़्यादा खिंचाव महसूस करती हैं, जिस चीज़ की वो ख़ुद में कमी पाती हैं। वैसे यह सिद्धान्त हम सभी पर लागू होता है “हम उसी और खिंचे चले जाते हैं, जिस की हम ख़ुद के जीवन में कमी पाते हैं।” चूँकि बात यहाँ महिलाओं की है तो हम उन्ही की बात करते हैं। सबसे पहली कमी जो लगभग हर महिला को पुरुष की तुलना में खलती है। वो है “क़द” महिलाएँ ख़ुद से लम्बे पुरुषों की तरफ़ आकर्षित होती ह…

भारतीय इतिहास के पांच बड़े गद्दार ! Five big traitors of Indian history


 

जयचंद
जैसे की हम सब जानते है की पृथ्वीराज चौहान देश के महान राजाओं में से एक थे, उनके शासनकाल में मोह्हमद गौरी ने देश पर कई बार आक्रमण किया पर उनको कोई बड़ी कमियाबी हासिल नहीं हुई. दूसरी तरफ कन्नौज के राका जयचंद पृथ्वीराज से अपनी बेइज्जती का बदला लेना चाहते थे, बाद में उसने मोह्हमद के साथ हाथ मिला लिया और बाद में लड़ाई में उनकी मदद भी की इसका परिणाम ये हुआ की 1192 के तराईन की लड़ाई ने मोहम्मद की जित हुई.
मीर जाफर
क्या आप जानते है मीर जाफर ना होता तो हम कभी अंग्रेजो के गुलाम नहीं बन पाते. 1757 के युद्ध में सिराजुद्दौला को हराने के लिए जाफर ने अंग्रेजो की काफी मदद की थी.
मीर कासिम
सिराजुद्दौला को हराने के लिए अंग्रेजो ने मीर जाफर का इस्तेमाल किया था बाद में अंग्रेजो ने मीर जाफर को हटाने के लिए मीर कासिम का इस्तेमाल किया, कासिम को राजगद्दी तो मिली पर उनको ये अहसास हो गया की उसने बहुत ही बड़ी गलती की है.
मान सिंह
जैसे की हम सभी जानते है की महराणा प्रताप ने कभी भी मुगलों की गुलामी को स्वीकार नहीं किया था पर मान सिंह जैसे गद्दार ने पद के लिए खुद को मुगलों के हाथों बेच दिया.
मीर सादिक
भारत के महान योद्धा टीपू सुलतान के साथ भी यही हुआ था जब कोई अपना ही दुश्मन के साथ मिल जाये तो हमारी हार पक्की ही होती है. मीर सादिक टीपू सुलतान का बेहद की खास मंत्री था और वो एकदिन अंग्रेजो के साथ मिल गया, बाद में इसका परिणाम ये आया की 1779 के युद्ध में टीपू सुलतान को अंग्रेजो ने हरा दिया.
तो ये थे वो 5 गद्दार जिन्होंने अपने ईमान के साथ-साथ अपने देश को भी बेच दिया था, इन्ही 5 लोगो की गलती की सजा हम आज भी भुगत रहे है.

Comments