पुरुष लिंग के बारे में चार रोचक तथ्य ! Interesting Facts About Male Gender

अभय गुप्ता (Abhay Gupta)

हर पुरुष और स्त्री के अंदर एक गुप्तांग होता है जिसे सामान्यतः हम लिंग के नाम से जानते हैं। स्त्री के अंदर मौजूद गुप्तांग को योनि और पुरुष के अंदर मौजूद गुप्तांग को लिंग कहते हैं। सेक्स के दौरान जब इन दोनों गुप्तांगों का मिलन होता है तो इससे ही स्त्री का गर्भ ठहर जाता है और वो माँ बन जाती है। आज हम आपको लिंग के बारे में हैरान कर देने वाली बातों को बताएंगे तो ध्यान से इस पोस्ट को पढ़ते रहें। 1. हर देश के लोगों का लिंग एक समान नही होता। किसी का लिंग मोटा और लम्बा होता है तो किसी का लिंग छोटा और पतला। अफ्रीकी देशों के लोगों का लिंग एशिया देशों के लोगों के लिंग से काफी लंबा और मोटा होता है जबकि एशिया देशों के लोगों का लिंग अफ्रीकी देशो के लोगों के लिंग से छोटा और पतला होता है। 2. लिंग की नॉर्मल लंबाई 6 से 13 सेंटी मीटर तक होती है जबकि तनाव की स्थिति में यह 7 से 17 सेंटी मीटर तक हो जाती है। 3. लम्बे लिंग के मुकाबले छोटा लिंग अधिकतर तने होने के कारण ज्यादा लंबा हो जाता है। 4. लिंग का साइज वंश और नश्ल पर भी निर्भर करता है।

Parle-G से जुड़े कुछ दिलचस्प तथ्य ! Intersting Facts About Parle-G


 

Parle-G बिस्कुट से जुड़े कुछ तथ्य-

  • 78 सालो से चला आ रहा है, आपका पसंदीदा बिस्कुट Parle-G ।
  • पारले जी कंपनी की शुरुआत सन 1929 में हुई थी, लेकिन उन्होंने सन 1939 में बिस्कुट का उत्पादन शुरू किया था ।
  • 1980 तक PARLE-G बिस्कुट का नाम PARLE GLUCO था ।
  • Parle-G बिस्कुट ने आज तक अपना LOGO नहीं बदला है ।
  • शुरू में Parle-G में G का मतलब "Glucose" था, लेकिन अब बदल कर 'Genius" कर दिया गया है ।
  • Parle-G ने अपना पहला विज्ञापन 1982 में दिया था। इस विज्ञापन में एक बूढ़े दादाजी और बच्चो को दिखाया गया था ।
  • पहले पारले जी बिस्कुट का पेकेट वेक्स कागच का आता था, लेकिन 2001 से इसे बदलकर प्लास्टिक के पेकेट में कर दिया गया ।
  • भारत में बिक्री के मामले में पारले जी नंबर 1 है। भारत में 70% बिस्कुट पारले ही बनाता है !आप जान कर चोंक जायेंगे की - हर मिनट लगभग 250000 लोग पारले जी बिस्कुट को खाते है ।
  • 2010 में पारले जी दुनिया का चोथा सबसे ज्यादा खाया जाने वाला बिस्कुट था ।
  • भारत के बाद पारले जी सबसे ज्यादा चीन में खाया जाता है ।
  • Parle नाम क्यों रखा गया ? - "
    पारले" नाम एक पुराने गाँव के नाम पर रखा गया ।
    जो लड़की पारले के पेकेट पर है वो कोन है ? >> हम आपको बता दे की जो लड़की पारले के पेकेट पर है, वो एक काल्पनिक चित्र है, उसका किसी भी व्यक्ति से कोई सम्बन्ध नहीं है। आज तक सब नीरू देशपांडे को पारले जी गर्ल मानते थे, लेकिन यह सच नहीं है। पारले पेकेट पर लगी लड़की का चित्र Everest creative "Maganlal Daiya" ने 1960 में बनाया था।
  •  

Comments