कुछ रोचक तथ्य क्या हैं जो सुनने में तो एकदम बकवास लगते हैं परंतु सत्य हैं

ध्रुपद ओबेरॉय (Dhrupad Oberoi),
कुछ रोचक तथ्य जो अती सत्य है। 1. दुनिया में 11 प्रतिशत लोग बाएं हाथ का इस्तेमाल करते हैं। 2. दुनिया की 90 प्रतिशत जनसंख्या किस करती है। 3. खाने का स्वाद उसमें सलाइवा (लार) मिलने के बाद ही आता है। 4. औसतन लोग बिस्तर में जाने के 7 मिनिट में सो जाते हैं। 5. भालू के 42 दांत होते हैं। 6. शुतुरमुर्ग की आंख उसके दिमाग से बड़ी होती है। 7. नींबू में स्ट्राबेरी के मुकाबले अधिक शक्कर होती है। 8. आठ प्रतिशत लोगों में एक अतिरिक्त पसली होती है। 9. स्विट्जरलैंड में दुनिया में सबसे अधिक चॉकलेट खाई जाती है। यहां हर व्यक्ति एक साल में 10 किलो के औसत से चॉकलेट खाता है। 10. अगस्त में सबसे ज्यादा लोग पैदा होते हैं। 11. मिक्की माउस का इटली में नाम टोपोलिनो है। 12. एक केकड़े का खून रंगहीन होता है। ऑक्सीजन मिलने के बाद यह नीला हो जाता है। 13. पक्षियों को निगलने के लिए ग्रेविटी की जरूरत होती है। 14. अंग्रेजी अल्फाबेट का सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला लेटर E है। 15. विश्व की दो सबसे अधिक कॉमन इस्तेमाल होने वाली भाषाएं मैंड्रियन चायनीज, स्पैनिश और अंग्रेजी है। 16. बिल्ली के हर…

क्या शिव लिंग पुरुष शरीर के अंग को दर्शाती है ! Untold Facts Of Shiv Linga


मैं आज शिवलिंग के बारे में बताना चाहूंगा जिसके बारे में ज़्यादातर लोग कुछ गलत ही समझते हैं |
1. क्या शिव लिंग पुरुष शरीर के अंग को दर्शाती है ?
नहीं, शिव लिंग पुरुष शरीर के अंग के समान नहीं है। यह लिंग का प्रतिनिधित्व नहीं करता है जिसे कई लोगों द्वारा माना और कहा जाता है। यह अफवाह ग्यारहवीं शताब्दी के बाद गैर हिंदुओं द्वारा फैलाया गया था |
2. शिव लिंग का असल अर्थ क्या है ?
शिवलिंग एक संस्कृत शब्द है ना की हिंदी शब्द। संस्कृत में, लिंग या लिंगम का अर्थ है “प्रतीक”। लेकिन हिंदी में लिंग का मतलब कुछ अलग है । तो भाषा बदलने के कारण लोग इसे कुछ और ही समझने लगे ।
3. शिवलिंग का क्या महत्व है ?
आरम्भ में ऋषि लोग दीपक की ज्योति पर ध्यान केंद्रित कर के मैडिटेशन किया करते थे | पर यह करना काफी कठिन होता था जैसे की कभी कभी तेज़ हवा चलने के कारण ध्यान एक जगह केंद्रित नहीं हो पता था | फिर उन्होंने शिवलिंग के ऊपर ध्यान लगाना शुरू किया क्यूंकि यह आध्यात्मिकता, विश्वास, ऊर्जा और अनंत की सीमा का प्रतीक है | आज भी कई लोग शिवलिंग पर ध्यान केंद्रित करके मैडिटेशन किया करते हैं |
स्रोत :-

Comments