कंडोम के कुछ मज़ेदार उपयोग

जितेन्द्र प्रताप सिंह (Jitendra Pratap Singh)
कुछ साल पहले उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग बहुत खुश हुआ जब बनारस के बुनकरों में मुफ्त में बांटे जाने वाले कंडोम की मांग खूब बढ़ गई। स्वास्थ्य विभाग यह सोच रहा था कंडोम बांटने से बुनकरों के जनसंख्या वृद्धि रुकेगी और कंडोम का सही इस्तेमाल होगा लेकिन जब पता चला कि बनारसी साड़ी बनाने वाले बुनकर मुफ्त में मिलने वाले कंडोम का इस्तेमाल साड़ी बनाने में कर रहे हैं तब ना सिर्फ उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग बल्कि पूरी दुनिया चौक उठी थी साड़ी बनाने वाले बुनकर कंडोम का इस्तेमाल अपने करघा पर करते हैं. साड़ियाँ तैयार करने में इस्तेमाल हो रहे हैं कंडोम दरअसल कंडोम में चिकनाई युक्त पदार्थ होता है और करघा पर लगाने से उसके धागे तेज़ी से चलते हैं और उनमें चमक भी आ जाती है. क्योंकि कंडोम में प्राकृतिक रबड़ यानी लैक्टेस होता है इसलिए बुनकर बुनाई के पहले धागों को कंडोम से खूब रगड़ देते हैं जिससे धागे में इतनी अच्छी चिकनाई आ जाती है इस साड़ी की बुनाई करते समय धागा फसता नहीं है और बुनाई तेजी से होता है और साड़ियों में बहुत अच्छी प्राकृतिक चमक आ जात…

पुरूषों के बारे में कुछ ऐसे दिलचस्प मनोवैज्ञानिक तथ्य जो शायद आप नही जानते ! Facts About Men

पुरूषों के बारे में कुछ ऐसे दिलचस्प मनोवैज्ञानिक तथ्य जो शायद आप नही जानते….

औसतन, दुनिया भर में महिलाएं पुरुषों की तुलना में अधिक समय तक जीवित रहती हैं, 
पुरुष अपने जीवन का लगभग एक वर्ष महिलाओं की ओर देखते हैं और वे महिलाओं की तुलना में दोगुना झूठ बोलते हैं।
 यहाँ मैं पुरुषों के बारे में कुछ मनोवैज्ञानिक तथ्य साझा करने जा रहा हूँ।




लड़कों को ज्यादा ठेस लगती है .
लड़के यह दिखाते हैं कि वे हमेशा बेफ्रिक रहते हैं, उन्हें किसी चीज की परवाह नहीं होती । 
आमतौर पर लड़को को जब किसी बात से दुख पहुंचता है तो वे इस मुद्दे पर बात करने की जगह उसे छोड़ कर आगे बढ़ जाते हैं, 
लेकिन इसका अर्थ यह नहीं कि उन्हें बुरा नहीं लगा। दिल टूटने पर पर वे अंदर ही अंदर रोते हैं, 
लेकिन अपने चेहरे से वे भीतरी जज्बात जाहिर नहीं होने देते।
 अपना दुख सिर्फ वही जानते हैं।
लड़के भी होते हैं भावुक .
आमतौर पर ऐसा माना जाता है कि लड़के ज्यादा भावुक नहीं होते। 
लेकिन, ऐसा नहीं है। दरअसल, वे आंसू छुपाने की कला में माहिर होते हैं। 
उन्हें लगता है रोना उन्हें कमजोर साबित करेगा और रोते हुए वे बहुत बुरे लगेंगे। 
लड़के खासकर लड़कियों के सामने रोना नहीं चाहते। वे कभी यह नहीं चाहते हैं लड़कियों के सामने उनकी आंख में आंसू आएं।
 और अगर कभी वे भावावेश में आकर रोने लग भी जाएं तो भूलकर उनका मजाक न बनाएं। 
भले ही आपकी यह कोशिश उन्हें हंसाने के लिए हो, लेकिन कोई भी यह नहीं चाहता कि उसके आंसुओं का मज़ाक बनाया जाए। 
अगर आप उनके सामने हंसेंगी तो वे खुद को कमजोर समझने लगेंगे। और हो सकता है कि उनके दिल में आपके लिए खटास आ जाए।
लड़कियों पर नियत्रंण .
लड़के चाहते हैं कि लड़कियां उनकी हर बात मानें। उनके कहे अनुसार ही बर्ताव करें। उनकी पसंद का पूरा खयाल रखें। कुल मिलाकर वे यही चाहते हैं कि लड़कियां उनके नियंत्रण में रहें। 
फिर चाहे वो बिस्तार में बिताए जाने वाले अंतरंग पलों की बात हो या फिर व्यावहारिक जीवन ही क्यों न हो।

भविष्य की चिंता .
अक्सर लड़के ऐसा दिखाते हैं कि उन्हें अपने आनेवाले कल की कोई चिंता नही, लेकिन हकीकत इससे अलग है। वे अंदर ही अंदर भावी योजनाओं पर विचार करते रहते हैं। 
हो सकता है कि आपका साथी भी अपने भविष्य सपनों के बारे में आपसे बात ना करता हो क्योंकि वो आपसे कोई वादा करने से डरता है।
 आमतौर पर लड़कों को यह डर रहता है कि कहीं वे इस पूरा करने में असफल ना हो जाएं।

लड़कों को चाहिए स्पेस
लड़को को अपनी आजादी काफी पसंद होती है। वे थोड़ा समय खुद के साथ बिताना चाहते हैं तो ऐसे में अगर आपका साथी किसी अलग कमरे में बैठा हो, 
तो इसका मतलब यह नहीं है कि वो आपका इंतजार कर रहा है और आपसे बातें करना चाहता है। 
कुछ देर उन्हें खुद के साथ एकेला छोड़ दें जिससे वो अपनी दिन भर की थकान से रिलेक्स हो सके।

गिफ्ट देने में कच्चे होते हैं
कभी-कभी लड़के जो गिफ्ट अपनी गर्लफ्रेंड को देते हैं वो बोरिंग होते हैं। ऐसा लगता है कि उन्होंने बिना सोचे-समझे इसे ले लिया है, 
लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वे आपसे कम प्यार करते हैं। 
गिफ्ट के बारे में निर्णय लेने में लड़कियां लड़कों से काफी बेहतर हैं। लड़के अक्सर गिफ्ट के बारे में ज्यादा नहीं सोच-विचार नहीं करते हैं जो उनके मन में आया ले लेते हैं।
         8 Quick Facts About Men
1. एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, विश्वासघाती लोगो का IQ लेवल कम होता हैं.
2.  अगर एक व्यक्ति कम बोलता हैं, लेकिन तेजी से बोलता हैं- इसका मतलब हैं कि वह एक गोपनीय व्यक्तित्व वाला शख्स हैं, जो ज़्यादातर बातें अपने तक ही रखता हैं.

3. पुरूषों द्वारा “I LOVE YOU” कहने के चांस महिलाओं से कही ज्यादा हैं.
4. आदमियों कि आत्महत्या करने की संभावना महिलाओं से 3-4 गुना ज्यादा हैं.
5. अगर किसी पुरुष को किसी की बात से तकलीफ पहुंची हो, तो वो उस बात को भूल जाते हैं, 
लेकिन माफ़ नहीं करते। लेकिन अगर एक महिला को किसी की बात से तकलीफ पहुंची हो, 
तो वो माफ़ कर देती हैं, लेकिन भूलती नहीं.
6. आदमी के मन को आकर्षित रखने के लिए सिर्फ सुंदरता ही काफी नही हैं.
7. बातचीत शुरू करते समय पुरूष भी उसी तरह nervous हो जाते हैं जैसे महिलाएं.
8.  किसी भी आदमी को प्यार में पड़ने के लिए सिर्फ़ 4 मिनट ही काफी होते हैं.


Comments