कंडोम के कुछ मज़ेदार उपयोग

जितेन्द्र प्रताप सिंह (Jitendra Pratap Singh)
कुछ साल पहले उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग बहुत खुश हुआ जब बनारस के बुनकरों में मुफ्त में बांटे जाने वाले कंडोम की मांग खूब बढ़ गई। स्वास्थ्य विभाग यह सोच रहा था कंडोम बांटने से बुनकरों के जनसंख्या वृद्धि रुकेगी और कंडोम का सही इस्तेमाल होगा लेकिन जब पता चला कि बनारसी साड़ी बनाने वाले बुनकर मुफ्त में मिलने वाले कंडोम का इस्तेमाल साड़ी बनाने में कर रहे हैं तब ना सिर्फ उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग बल्कि पूरी दुनिया चौक उठी थी साड़ी बनाने वाले बुनकर कंडोम का इस्तेमाल अपने करघा पर करते हैं. साड़ियाँ तैयार करने में इस्तेमाल हो रहे हैं कंडोम दरअसल कंडोम में चिकनाई युक्त पदार्थ होता है और करघा पर लगाने से उसके धागे तेज़ी से चलते हैं और उनमें चमक भी आ जाती है. क्योंकि कंडोम में प्राकृतिक रबड़ यानी लैक्टेस होता है इसलिए बुनकर बुनाई के पहले धागों को कंडोम से खूब रगड़ देते हैं जिससे धागे में इतनी अच्छी चिकनाई आ जाती है इस साड़ी की बुनाई करते समय धागा फसता नहीं है और बुनाई तेजी से होता है और साड़ियों में बहुत अच्छी प्राकृतिक चमक आ जात…

विश्व में सबसे अच्छा वेतन किस देश का है ! Which country is the best salary in the world


शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जो अच्छी सैलरी पाना नहीं चाहता। इस दुनिया में जितने लोग नौकरी कर रहे हैं, वे सब उस जगह जाना चाहते हैं, जहां उन्हें अच्छा पैकेज मिले। अगर आप भी अच्छे पैकेज की इच्छा रखते हैं और दुनिया में कहीं भी काम करने को तैयार हैं तो आइए हम आपको बताते हैं दुनिया के उन मुल्‍कों के बारे में जहां काम करने वालों को सबसे अच्‍छी सैलरी दी जाती है।
लक्समबर्ग: लक्‍समबर्ग एक बहुत छोटा देश है यह जनसंख्‍या और आकार में भी बांकी देशों के मुकाबले में बहुत छोटा है। यहां की अर्थव्‍यवस्‍था बैंकिंग और निवेश पर ज्‍यादा निर्भर होती है। यहां तक कि ये यूनाइटेड स्‍टेट में निवेश फंड सेंटर के रुप में जाना जाता है। कई ऑनलाइन कंपनियां लक्‍समबर्ग से ही दुनिया भर में राज कर रही हैं जैसे कि अमेजन और स्‍काइप। तो वहीं कुछ समय पहले तक लक्‍समबर्ग स्‍टील बनाने में सबसे आगे था। यहां पर औसत सैलरी दुनिया में सबसे ज्‍यादा $61511 है।
इन देशों के लोगों को मिलता हैं सबसे ज्यादा सैलरी
फ्रांस- यहां एक सामान्य व्यक्ति घंटे के हिसाब से लगभग 550 रुपए कमाता है।
लक्जमबर्ग- यहां कानूनी रुप से काम करने वाला व्यक्ति घंटे के हिसाब से 600 रुपए कमाता है, जिसके तहत हफ्ते में 40 घंटे काम के हिसाब से लगभग डेढ़ लाख रुपए बनते हैं।
ऑस्ट्रेलिया- घंटे के हिसाब से 600 और हफ्ते में 38 घंटे काम करके यहां एक व्यक्ति सप्ताह में 22 लाख का वेतन पाता है।
नीदरलैंड्स- यहां हफ्ते में 40 घंटे काम के हिसाब से डेढ़ लाख का वेतन बनता है, जो महीने के हिसाब से लगभग 6 लाख से भी अधिक हो जाता है।
भविष्य में सबसे ज्यादा सैलरी दिलाने वाले ये प्रोफेशन
फोर्ब्स मैगजीन के अनुसार आने वाले समय में कुछ ऐसे प्रोफेशन रहेंगे जो सबसे ज्यादा फलेंगे-फूलेंगे और उनमें वेतन सबसे अधिक मिलने की संभावना है। इनमें सबसे पहले नंबर पर सर्जन हैं, जिनकी सालाना आय 2-3 करोड़ रुपए होगी। इनके अलावा कॉरपोरेट एक्जीक्यूटिव, पेट्रोलियम इंजीनियर, फार्मासिस्ट और डाटा साइंटिस्ट जैसे विकल्प वेतन के मामले में सबसे ऊंचाई पर रहेंगे।

Comments