पुरुष लिंग के बारे में चार रोचक तथ्य ! Interesting Facts About Male Gender

अभय गुप्ता (Abhay Gupta)

हर पुरुष और स्त्री के अंदर एक गुप्तांग होता है जिसे सामान्यतः हम लिंग के नाम से जानते हैं। स्त्री के अंदर मौजूद गुप्तांग को योनि और पुरुष के अंदर मौजूद गुप्तांग को लिंग कहते हैं। सेक्स के दौरान जब इन दोनों गुप्तांगों का मिलन होता है तो इससे ही स्त्री का गर्भ ठहर जाता है और वो माँ बन जाती है। आज हम आपको लिंग के बारे में हैरान कर देने वाली बातों को बताएंगे तो ध्यान से इस पोस्ट को पढ़ते रहें। 1. हर देश के लोगों का लिंग एक समान नही होता। किसी का लिंग मोटा और लम्बा होता है तो किसी का लिंग छोटा और पतला। अफ्रीकी देशों के लोगों का लिंग एशिया देशों के लोगों के लिंग से काफी लंबा और मोटा होता है जबकि एशिया देशों के लोगों का लिंग अफ्रीकी देशो के लोगों के लिंग से छोटा और पतला होता है। 2. लिंग की नॉर्मल लंबाई 6 से 13 सेंटी मीटर तक होती है जबकि तनाव की स्थिति में यह 7 से 17 सेंटी मीटर तक हो जाती है। 3. लम्बे लिंग के मुकाबले छोटा लिंग अधिकतर तने होने के कारण ज्यादा लंबा हो जाता है। 4. लिंग का साइज वंश और नश्ल पर भी निर्भर करता है।

दुनिया की सबसे अनसुलझी रहस्यमयी घटनाएं ! Unsolved Mysteries Of World


 

6 इंच का छोटा नरकंकाल-
चिली में घोस्ट टाउन से मसहूर एक जगह है जहाँ एक 6 इंच का नर कंकाल पाया गया था। इस नरकंकाल के दांत पत्थर जैसे मजबूत थे।बहुत सारे रिसर्च के बाद यह मान लिया गया था वह कंकाल इंसान का ही था। लेकिन सवाल यह उठता है कि इतने छोटे इंसान के दांत कैसे हो सकते हैं। आज भी यह रहस्य अनसुलझा ही है।
आसमान से हुई ‘मीट के टुकड़ों’ की बारिश-
साल 1876 में बाथ कंट्री के रंकिन में अचानक से मीट के टुकड़ों की बारिश होने लगी थी। आसमान से मीट के टुकड़े गिरने लगे थे। नेवार्क साइंटिफिक एसोसिएशन ने इन टुकड़ों की जांच कर पाया कि ये टुकड़े घोड़े या किसी नवजात के हैं। लेकिन असलियत किसी को पता नहीं चल पाई।
एक ऐसा छेद जिसमें समा जाती है आधी नदी-
"द डेविल्स केटल" नाम से प्रसिद्द इस छेद में नदी का आधा पानी समा जाता है। लेकिन आज तक दुनिया का कोई भी वैज्ञानिक और विज्ञान यह पता कि यह पानी आखिर जाता कहाँ है?
तैराकी के दौरान गायब हो गए ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री-
हेराल्ड होल्ड 22 महीने तक ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री रहे, उन्हें आखिरी बार चेवियट बीच पर देखा गया था. उस समय वो वहां तैराकी का आनंद ले रहे थे. लेकिन उसके बाद अचानक वो वहीँ से गायब हो गए उन्हें ढूंढने के लिए पुलिस, ऑस्ट्रेलियन नेवी डाइवर्स, एयर फाॅर्स हेलिकॉप्टर्स भी लगाए गए। लेकिन हेराल्ड का कोई निशान नहीं मिला।
1518 का ‘डांसिंग प्लेग’?
कहा जाता है कि 1518 में एल्सासे के स्ट्रासबर्ग में डांसिंग प्लेग फैला था। यह एक ऐसी बिमारी थी जिसमें लोग कई महीनों तक बिना रुके डांस करते रहे थे। इस दौरान कइयों की मौत हार्ट अटैक और स्ट्रोक्स की वजह से हो गई थी। इस प्लेग के रहस्य से कभी पर्दा नहीं हट पाया।

Comments