दुनिया की सबसे महंगी सब्जी | World Most Expensive Vegetable

दुनिया में कई तरह की सब्जियां हैं कुछ सब्जियां जो हम नॉर्मल लाइफ में रोजाना खाते हैं। लेकिन कुछ सब्जियां ऐसी हैं। जिसके दाम के बारे में सुनकर आप दंग रह जाएंगे। आज इसी विषय में जानने की कोशिश करेंगे दुनिया की सबसे महंगी सब्जी के बारे में। तो आइये इसके बारे में जानते हैं विस्तार से।
हॉप शूट्स।आपको बता दें की ये सब्जी दुनिया की सबसे महंगी सब्जी हैं। आमतौर पर यह सब्जी 1000 यूरो प्रति किलो बिकती है यानी भारतीय रुपये में कहें तो इसकी कीमत 80 हजार रुपये किलो के आसपास है। इसे खरीद पाना नॉर्मल इंसान के बस में नहीं हैं।आपको बता दें की इस हॉप का इस्तेमाल जड़ी-बूटी के तौर पर भी किया जाता है। सदियों से इसका इस्तेमाल दांत के दर्द को दूर करने से लेकर टीबी के इलाज तक में होता रहा है। हॉप में ऐंटीबायॉटिक की प्रॉपर्टी पाई जाती है जो इंसान के हेल्थ के लिए बहुत फायदेमंद हैं। इससे शरीर की कई बीमारियां दूर हो जाती हैं और इंसान खुद को सेहतमंद महसूस करता हैं।यह सदाबहार सब्जी है जो साल भर उगाई जा सकती है। लेकिन ठंडी के मौसम को इसके लिए ठीक नहीं माना जाता है। मार्च से लेकर जून तक इसकी खेती के लिए आदर्श समय मान…

दुनिया की सबसे अनसुलझी रहस्यमयी घटनाएं ! Unsolved Mysteries Of World


 

6 इंच का छोटा नरकंकाल-
चिली में घोस्ट टाउन से मसहूर एक जगह है जहाँ एक 6 इंच का नर कंकाल पाया गया था। इस नरकंकाल के दांत पत्थर जैसे मजबूत थे।बहुत सारे रिसर्च के बाद यह मान लिया गया था वह कंकाल इंसान का ही था। लेकिन सवाल यह उठता है कि इतने छोटे इंसान के दांत कैसे हो सकते हैं। आज भी यह रहस्य अनसुलझा ही है।
आसमान से हुई ‘मीट के टुकड़ों’ की बारिश-
साल 1876 में बाथ कंट्री के रंकिन में अचानक से मीट के टुकड़ों की बारिश होने लगी थी। आसमान से मीट के टुकड़े गिरने लगे थे। नेवार्क साइंटिफिक एसोसिएशन ने इन टुकड़ों की जांच कर पाया कि ये टुकड़े घोड़े या किसी नवजात के हैं। लेकिन असलियत किसी को पता नहीं चल पाई।
एक ऐसा छेद जिसमें समा जाती है आधी नदी-
"द डेविल्स केटल" नाम से प्रसिद्द इस छेद में नदी का आधा पानी समा जाता है। लेकिन आज तक दुनिया का कोई भी वैज्ञानिक और विज्ञान यह पता कि यह पानी आखिर जाता कहाँ है?
तैराकी के दौरान गायब हो गए ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री-
हेराल्ड होल्ड 22 महीने तक ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री रहे, उन्हें आखिरी बार चेवियट बीच पर देखा गया था. उस समय वो वहां तैराकी का आनंद ले रहे थे. लेकिन उसके बाद अचानक वो वहीँ से गायब हो गए उन्हें ढूंढने के लिए पुलिस, ऑस्ट्रेलियन नेवी डाइवर्स, एयर फाॅर्स हेलिकॉप्टर्स भी लगाए गए। लेकिन हेराल्ड का कोई निशान नहीं मिला।
1518 का ‘डांसिंग प्लेग’?
कहा जाता है कि 1518 में एल्सासे के स्ट्रासबर्ग में डांसिंग प्लेग फैला था। यह एक ऐसी बिमारी थी जिसमें लोग कई महीनों तक बिना रुके डांस करते रहे थे। इस दौरान कइयों की मौत हार्ट अटैक और स्ट्रोक्स की वजह से हो गई थी। इस प्लेग के रहस्य से कभी पर्दा नहीं हट पाया।

Comments