कंडोम के कुछ मज़ेदार उपयोग

जितेन्द्र प्रताप सिंह (Jitendra Pratap Singh)
कुछ साल पहले उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग बहुत खुश हुआ जब बनारस के बुनकरों में मुफ्त में बांटे जाने वाले कंडोम की मांग खूब बढ़ गई। स्वास्थ्य विभाग यह सोच रहा था कंडोम बांटने से बुनकरों के जनसंख्या वृद्धि रुकेगी और कंडोम का सही इस्तेमाल होगा लेकिन जब पता चला कि बनारसी साड़ी बनाने वाले बुनकर मुफ्त में मिलने वाले कंडोम का इस्तेमाल साड़ी बनाने में कर रहे हैं तब ना सिर्फ उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग बल्कि पूरी दुनिया चौक उठी थी साड़ी बनाने वाले बुनकर कंडोम का इस्तेमाल अपने करघा पर करते हैं. साड़ियाँ तैयार करने में इस्तेमाल हो रहे हैं कंडोम दरअसल कंडोम में चिकनाई युक्त पदार्थ होता है और करघा पर लगाने से उसके धागे तेज़ी से चलते हैं और उनमें चमक भी आ जाती है. क्योंकि कंडोम में प्राकृतिक रबड़ यानी लैक्टेस होता है इसलिए बुनकर बुनाई के पहले धागों को कंडोम से खूब रगड़ देते हैं जिससे धागे में इतनी अच्छी चिकनाई आ जाती है इस साड़ी की बुनाई करते समय धागा फसता नहीं है और बुनाई तेजी से होता है और साड़ियों में बहुत अच्छी प्राकृतिक चमक आ जात…

जियो ने शुरु किया पेमेंट बैंक, जानिए क्या है ये?




टेलीकॉम की दुनिया में धमाका करने के बाद मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस jio ने पेमेंट बैंक लॉन्च कर दिया न शुरु हो गया है जिसकी जानकारी भारतीय रिजर्व बैंक ने दी. रिलायंस इंडस्ट्रीज उन 11 आवेदकों में से है जिन्हें अगस्त, 2015 में भुगतान बैंक की स्थापना की सैद्धान्तिक मंजूरी मिली थी और अब तीन अप्रैल से इसका ऑपरेशन शुरु हो गया.




जियो के पेमेंट में सेविंग अकाउंट खोलकर एक लाख रुपये तक जमा कर सकते हैं. पेमेंट बैंक डेबिट कार्ड भी जारी कर सकते हैं. जियो पेमेंट बैंक का ऐप इंस्टाल करें आप इसमें खाता खोल सकते हैं. जियो पेमेंट बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की साझेदारी में चल रहा है जिसमें रिलायंस की 70 फीसदी हिस्सेदारी है.

टेलीकॉम क्षेत्र की भारती एयरटेल ने नवंबर, 2016 में सबसे पहले पेमेंट बैंक शुरू किया था. पेटीएम ने पेटीएम पेमेंट बैंक मई, 2017 और फिनो पेमेंट बैंक ने पिछले साल जून में ऑपरेशन शुरु किया था. जियो के आने के बाद पेमेंट बैंक की दुनिया में बाकी राइवल्स को कड़ी टक्कर मिलने वाली है..

Comments