टमाटर के फायदे और नुकसान - Tomato Benefits and Side Effects in Hindi



टमाटर के बिना भारतीय रसोई अपूर्ण है! टमाटर अक्सर एक सब्जी माना जाता है, हालांकि वास्तव में यह एक फल है। चाहे आप इसे फल कहे या फिर सब्ज़ी, लेकिन हम सब जानते है कि टमाटर पोषण का एक पावरहाउस है। आप इसे अपने दैनिक आहार योजना में शामिल कर इसके अत्यधिक स्वास्थ्य लाभों का आनंद उठा सकते हैं।


टमाटर में अच्छी मात्रा में विटामिन ए, सी और के है। इसके अलावा इसमें फोलेट और पोटेशियम, नियासिन, विटामिन बी 6, मैग्नीशियम, फास्फोरस और ताँबा सम्मलित हैं और ये सभी ही अच्छे स्वास्थ्य बनाए रखने के लिए आवश्यक हैं।

टमाटर के पौष्टिक गुणों की सबसे अच्छी बात यह है कि यह सोडियम, संतृप्त वसा, कोलेस्ट्रॉल और कैलोरी में स्वाभाविक रूप से कम है। आप टमाटर का सेवन सलाद, सैंडविच, सब्जियों के लिए ग्रेवी, सॉस और सूप में शामिल करके कर सकते हैं।




टमाटर के फायदे स्किन के लिए - Tamatar ke Fayde for Skin in Hindi




टमाटर का नियमित सेवन आपकी त्वचा के निखार में चार चाँद लगा देता है। टमाटर में लाइकोपीन नामक एक एंटीऑक्सिडेंट सम्मिलित होता है, जो त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों की क्षति से बचाता है। यह त्वचा को यूवी (UV) प्रकाश क्षति से बचाता है, जो चेहरे पर रेखाएं (Fine Lines)और झुर्रियों के मुख्य कारणों में से एक है।

इसके अलावा, चेहरे पर बड़े रोम छिद्रों को कम करने के लिए टमाटर का इस्तेमाल किया जा सकता है। यह मुँहासे और चकत्ते या मामूली जलने के निशान के इलाज में भी मदद कर सकता है। त्वचा पर टमाटर के गूदे को रगड़ना एक स्वस्थ चमक त्वचा को पुनर्जीवित करने का एक आसान तरीका है।


टमाटर के लाभ बनाएँ हड्डियों को मजबूत - Tomato for Bones in Hindi




टमाटर विटामिन के और कैल्शियम की उपस्थिति के कारण यह आपके हड्डियों के लिए एक उत्कृष्ट आहार है। दोनों ही तत्व हड्डियों को मजबूत बनाने और उनकी मरम्मत करने के लिए लाभदायक होते हैं।

इसमें निहित लाइकोपीन नामक एंटी-ऑक्सिडेंट भी हड्डियों के द्रव्यमान को बेहतर बनाने के लिए जाना जाता है, जो ऑस्टियोपोरोसिस से लड़ने का एक प्रभावी तरीका है। ऑस्टियोपोरोसिस एक बीमारी है जो हड्डी के फ्रैक्चर, विकलांगता और विकृति का कारण बन सकती है।

(और पढ़े - हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए जूस रेसिपी)

टमाटर के जूस के फायदे लाएं नेत्र दृष्टि में सुधार - Tomato Juice Benefits for Eyes in Hindi




टमाटर में विटामिन सी और ए की उच्च मात्रा आपके दृष्टि में सुधार करने में मदद कर सकती है और रात के अंधेपन को रोक सकती है। हाल में हुए एक शोध से पता चलता है कि टमाटर में विटामिन ए मैक्यूलर डिएनेजेरेशन (चकत्तेदार अध: पतन) के जोखिम को कम करने में मदद करता है। चकत्तेदार अध: पतन एक गंभीर और अपरिवर्तनीय नेत्र विकार है।

टमाटर मोतियाबिंद के विकास के जोखिम को भी कम कर सकते हैं। इसके अलावा, टमाटर में फाइटोकैमिकल एंटीऑक्सिडेंट्स ज़ेक्सैथिन, ल्यूटिन और लाइकोपीन होते हैं। यह सभी यौगिक आंखों की रोशनी को किसी भी प्रकार की क्षति पहुंचने से बचाते हैं।

(और पढ़े - पालक के उपयोग से लाएँ नेत्र स्वास्थ्य में सुधार)

टमाटर का उपयोग लगाए बालों की समस्याओं पर रोक - Tomato ke Fayde for Hair in Hindi




टमाटर आपके बालों को स्वस्थ, घना व बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं। टमाटर में विटामिन (विशेष रूप से विटामिन ए) और लौह सम्मलित हैं, जो बालों को मजबूत करने के साथ-साथ बेजान, क्षतिग्रस्त और निर्जीव बालों को एक नया जीवन प्रदान कर उनमें एक नई चमक ले आते हैं।

इसके अलावा, टमाटर में उपस्थित अम्ल आपके बालों के पी.एच. स्तर को संतुलित करने में मदद करता है, जो बदले में बालों के रंग और रंजक को दूर करने और आपके बालों के प्राकृतिक रंग को बनाए रखने में मदद करता है।

यदि आप खुजली और रूसी से परेशान हैं, तो बस अपने सिर और बाल पर शैम्पू करने के बाद टमाटर का रस लगाएं, इसे चार से पांच मिनट तक छोड़ दें और फिर ठंडे पानी से धो लें।

नोट:- नियमित रूप से अपने बालों पर टमाटर का प्रयोग न करें क्योंकि उनकी अम्लता आपके बालों को सूखा व बेजान बना सकती है।


टमाटर खाने के फायदे हैं रक्त-शर्करा स्तर को कम करने के लिए - Tomato Helps in Diabetes in Hindi




रक्त शर्करा के स्तर को कम करने के लिए टमाटर मधुमेह रोगियों के लिए एक उत्कृष्ट आहार हैं। इसमें बहुत कम कार्बोहाइड्रेट निहित होता है, जो मूत्र ग्लूकोज स्तर को नियंत्रित करने में सहायता करता है।

टमाटर क्रोमियम का भी एक बहुत अच्छा स्रोत है जो रक्त में शर्करा-स्तर के साथ-साथ फाइबर को नियंत्रित करने में मदद करता है। सम्बंधित शोधों में फाइबर ने रक्त शर्करा के स्तर को बहुत अधिक होने से रोकने का प्रभाव दिखाया है।

कई अध्ययनों से पता चला है कि टमाटर में उपस्थित एंटीऑक्सिडेंट्स गुर्दे और रक्तप्रवाह को भी सुरक्षा प्रदान करते हैं, जो अक्सर मधुमेह से प्रभावित होते हैं। इसके अलावा, टमाटर जैसा कम कैलोरी वाला भोजन, वजन कम करने की कोशिश कर रहे मधुमेह रोगियों के लिए उपयोगी हो सकता है।

(और पढ़ें – मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए यह दस जड़ी बूटियाँ हैं बहुत फायदेमंद)

टमाटर के औषधीय गुण करें कैंसर से बचाव - Tomato for Cancer Cure in Hindi




राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन से पता चलता है कि अधिक टमाटर खाने से प्रोस्टेट कैंसर का खतरा कम हो सकता है।

इससे फेफड़े, पेट, ग्रीवा, मुँह, ग्रसनी, गले, अन्नप्रणाली, कोलन, गुदा और डिम्बग्रंथि के कैंसर जैसे अन्य कैंसर के जोखिम में भी कमी आ सकती है। टमाटर के इस स्वास्थ्य लाभ का मुख्य श्रेय इसमें निहित लाइकोपीन नामक एक एंटी-ऑक्सीडेंट को जाता है।

जब टमाटर को जैतून के तेल के माध्यम से पकाया जाता है तो इसके कैंसर-विरोधी गुणों के लाभ को अधिकतम किया जा सकता है।


टमाटर खाने के लाभ हैं वजन घटाने में मददगार - Tomato Helps in Weight Loss in Hindi




टमाटर आपका वजन कम करने में भी मदद कर सकते हैं। टमाटर में बहुत कम वसा पाई जाती है और साथ ही में इसमें शून्य कोलेस्ट्रॉल होता है। इसमें बहुत सारा पानी और फाइबर होता है, इसलिए यह आपको ज्यादा कैलोरीज गेन कराये बिना आपके पेट को तेजी से भरने में मदद करता है।

यदि आप अपना वजन कम करने की योजना बना रहे हैं, तो अपने आहार योजना में बहुत से टमाटर शामिल करें। आप इसे एक फल की तरह कच्चा खा सकते हैं या फिर इसे सलाद, कैसरोल, सैंडविच और अन्य भोजन में भी शामिल कर सकते हैं।


टमाटर सूप के फायदे नींद को बढ़ावा देने के लिए - Tomato Soup for Sleep in Hindi




पेन्सिलवेनिया पेरेलमैन स्कूल ऑफ मेडिसिन विश्वविद्यालय में हुए एक अध्ययन के मुताबिक, जो लोग लाइकोपीन का सेवन करते हैं, वे लोग उन लोगों के मुकाबले बेहतर नींद का आनंद लेते हैं जो इसका सेवन नहीं करते हैं। और टमाटर लाइकोपीन का एक उत्कृष्ट स्रोत है।

इसके अलावा, टमाटर में विटामिन सी भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है और अपने दैनिक आहार में विटामिन सी के उच्च स्तर को शामिल करना, शान्तिप्रदायक नींद को बढ़ावा दे सकता है। तो अगर आप ठीक से नहीं सो पा रहे हैं, तो रात के खाने के समय में टमाटर सूप या टमाटर युक्त सलाद खाने का प्रयास करें।


टमाटर के गुण करें उच्च रक्तचाप को कम - Tomato Good for Low Blood Pressure in Hindi




पोटेशियम से समृद्ध टमाटर, उच्च रक्तचाप कम करने में मदद कर सकता है। यह पाया गया है कि आपके आहार में पोटेशियम की कमी होने पर रक्तचाप बढ़ सकता है, खासकर यदि आप बहुत अधिक सोडियम का उपभोग करते हैं। पोटेशियम आपके शरीर से सोडियम को फ्लश करने में मदद करता है।

ताजा टमाटर का सिर्फ एक कप पोटेशियम की आपकी दैनिक आवश्यकता का 11.4 प्रतिशत होता है। अतः अधिक टमाटर का सेवन करना उच्च रक्तचाप से लड़ने और विभिन्न हृदय स्थितियों के जोखिम को कम करने का एक शानदार तरीका है।

इसके अतरिक्त टमाटर में लाइकोपीन, विटामिन ए और सी, फाइबर और कैरोटीनॉयड जैसी शक्तिशाली पोषक तत्व होते हैं जो हृदय रोग के जोखिम को कम करने के लिए मिलकर काम करते हैं।

टमाटर का रस है सूजन को दूर करने में फायदेमंद - Tomato Juice for Inflammation in Hindi




बायो-फ्लेवोनोइड्स और कैरोटीनॉयड जैसे एंटी-इंफ्लेमेटरी एजेंट्स की मौजूदगी के कारण टमाटर पुराने दर्द को कम कर सकते हैं। नियमित रूप से हल्के से मध्यम दर्द महसूस करने वाले लोग अक्सर सूजन (इन्फ्लेम्शन) का शिकार बन जाते हैं। और टमाटर में निहित सूजन को कम करने वाले गुण सूजन व जलन को कम कर आपको आपके बार बार होने वाले दर्द से राहत प्रदान करते हैं।

एक अध्ययन में पाया गया कि टमाटर का रस रोजाना पीने से टी.एन.एफ.-अल्फा के रक्त के स्तर को कम किया जा सकता है, जो कि 34% तक सूजन का कारण बनता है। टमाटर, हृदय रोग, कैंसर, ऑस्टियोपोरोसिस और अल्जाइमर जैसी पुरानी, अपक्षयी स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित लोगों के लिए एक अच्छा भोजन है।

तो अगली बार जब आप फल-सब्ज़ी की खरीदारी करने जाएँ, तो अपने टोकरी में टमाटर को शामिल करना ना भूलें। चाहे आप ताज़े टमाटर का सेवन करें या फिर उससे बने हुए स्वस्थ रस, सलाद, सूप आदि का सभी आपके स्वास्थ्य के लिए स्वास्थ्यवर्धक विकल्प है।

टमाटर के नुकसान - Tamatar ke Nuksan in Hindi


भारतीय व्यंजनों का एक अभिन्न अंग-टमाटर स्वाद के साथ-साथ कई स्वास्थ्य लाभ भी प्रदान करता है! चाहे आप इसे कच्चा खाये या फिर पका हुआ, यह आपको हमेशा बहुत सारे विटामिन, खनिज, आहार फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट प्रदान करता है। लेकिन इसके उपभोग के कुछ संभावित नुकसान भी हैं! जी हाँ, निर्दोष दिखने वाला इस टमाटर के कुछ सामान्य और कुछ गंभीर साइड इफेक्ट्स भी हैं, जिनका चर्चा निम्नलिखित अंकों में की गयी है:-
टमाटर में लायकोपिन नामक एक फाइटोकेमिकल पाया जाता है। इस फाइटोकेमिकल का अत्यधिक सेवन हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली की नियमित गतिविधियों में हस्तक्षेप कर सकता है और इसे धीमा कर सकता है। नतीजतन, हमारा शरीर कई सामान्य माइक्रोबियल (बैक्टीरियल, फंगल और वायरल) बीमारियों से खुद को बचाने की क्षमता खो देता है। इसके अतिरिक्त, यह शारीरिक क्षति की मरम्मत के लिए असमर्थ हो जाता है।
टमाटर अनेक अम्लों का एक समावेश है जिसका अत्यधिक सेवन जठरांत्र विकारों को पैदा कर सकता है।
टमाटर की लाइकोपीन सामग्री के परिणामस्वरूप इर्रिटेबल आंत्र सिंड्रोम (आई.बीए.स.) जैसे कुछ गंभीर आंतों की समस्याएं हो सकती है।
टमाटर के सेवन से गुर्दों में पथरी के निर्माण को प्रोत्साहन मिल सकता है। टमाटर, विशेष रूप से इसके बीज कैल्शियम और ऑक्सालेट यौगिकों में समृद्ध होते हैं। यदि आप पहले से ही गुर्दे की समस्याओं से ग्रस्त है, तो इसके सेवन ना करें।
अध्ययनों से पता चला है कि टमाटर के बीज में मौजूद लाइकोपीन पुरुष प्रोस्टेट ग्रंथि में असामान्यताएं पैदा कर सकता है। यह दर्द, पेशाब में कठिनाई और स्तम्भन दोष आदि का कारक है।
टमाटर का लंबी अवधि के लिए लगातार खपत आपकी त्वचा का रंग बदल सकती है। आपकी त्वचा पर नारंगी रंग का थोड़ा सा प्रतिबिम्ब नज़र आ सकता है।

मुझे यकीन है कि दुष्प्रभावों की कोई भी मात्रा आपको अपने पसंदीदा टमाटर से दूर नहीं रखेगी! लेकिन, इन दुष्प्रभावों को ध्यान में रखने की कोशिश करें और अपने टमाटर की खपत को सीमित करें!

Comments