कंडोम के कुछ मज़ेदार उपयोग

जितेन्द्र प्रताप सिंह (Jitendra Pratap Singh)
कुछ साल पहले उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग बहुत खुश हुआ जब बनारस के बुनकरों में मुफ्त में बांटे जाने वाले कंडोम की मांग खूब बढ़ गई। स्वास्थ्य विभाग यह सोच रहा था कंडोम बांटने से बुनकरों के जनसंख्या वृद्धि रुकेगी और कंडोम का सही इस्तेमाल होगा लेकिन जब पता चला कि बनारसी साड़ी बनाने वाले बुनकर मुफ्त में मिलने वाले कंडोम का इस्तेमाल साड़ी बनाने में कर रहे हैं तब ना सिर्फ उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग बल्कि पूरी दुनिया चौक उठी थी साड़ी बनाने वाले बुनकर कंडोम का इस्तेमाल अपने करघा पर करते हैं. साड़ियाँ तैयार करने में इस्तेमाल हो रहे हैं कंडोम दरअसल कंडोम में चिकनाई युक्त पदार्थ होता है और करघा पर लगाने से उसके धागे तेज़ी से चलते हैं और उनमें चमक भी आ जाती है. क्योंकि कंडोम में प्राकृतिक रबड़ यानी लैक्टेस होता है इसलिए बुनकर बुनाई के पहले धागों को कंडोम से खूब रगड़ देते हैं जिससे धागे में इतनी अच्छी चिकनाई आ जाती है इस साड़ी की बुनाई करते समय धागा फसता नहीं है और बुनाई तेजी से होता है और साड़ियों में बहुत अच्छी प्राकृतिक चमक आ जात…

Untold Facts About Bat's

                  चमगादड़ से जुड़े रोचक तथ्य

"चमगादड़ों की एक छोटी बस्ती एक साल में 1000 किलो कीड़े जा 6 करोड़ खटमल खा सकती है."

"एक चमगादड़ एक घंटे में 600 खटमल तक खा सकता है जो एक मनुष्य के एक रात में 18 पीजा खाने के बराबर है."
"एक सरवे के अनुसार लगभग 140 बड़े भूरे चमगादड़ एक गर्मी के मौसम में बहुत सारे ऐसे कीटो के खा सकते है जो खीरो को नुकसान पहुँचाते है और इससे किसानो के 51 करोड़ रूपये बचते हैं."
"दुनिया के सबसे लंम्बे चमगादड़ के पंखो की लंम्बाई 5 से 6 फुट तक की है."

"कुछ पौदों के बीज पुंगरते ही नही अगर वह चमगादडों की पाचन प्रणाली से न गुजरें इसके इलाव चमगादड़ जो पका हुआ फल खाते है उनके बीज भी फैला देते है. लगभग 95% उष्णकटिबंधीय वर्षावनों का वनीकरण चमगादड़ों द्वारा फैलाये गये बीजो से हुआ है."
"संसार में लगभग चमगादड़ों की 1100 प्रजातीयाँ पाई जाती है."
"चमगादड़ों की सबसे बड़ी गुफा Texax में है और इसमें2 करोड़ के करीब चमगादड़ रहते है.यह हर रोज 2 लाख किलो खटमल खा जाते हैं." "कुछ सफेद पंखों वाले चमगादड़ मुर्गीयों के पास आकर लेट जाते हैं और चुजे(chicks) होने का नाटक करते हैं . जब वह मुर्गी के नीचे आ जाते हैं तो उनका खून चुसने लगते हैं."

"चमगादड़ एकलौते स्तनधारी प्राणी है जो कि उड़ सकते हैं."
"एक भुरा चमगादड़ लगभग 40 साल तक जीता है जो कि इन जैसे आकार वाले स्तनधारीयो से कही ज्यादा है. चुहे और चकुंदर दो साल से भी कम जीते है."
"पृथ्वी पे जितने भी स्तनपायी प्रजातीयाँ है(मनुष्य समेत) उनमें मे 20 प्रतीशत आबादी चमगादड़ों की है."
"कुछ छोटे प्रकार के चमगादड़ जब सो रहे होते है तो उनके दिल की गति सिर्फ 18 बार प्रति मिनट होती है.पर जब वह जाग जाते है तो गती 880 तक पहुँच जाती है."

Comments