महिलाएं पुरुषों के किन अंगों को देखकर आकर्षित होती हैं ! Which parts of men are attracted by women?

मनोज लालवानी (Manoj Lalwani),


बात महिलाओं की पसन्द की है तो बहुत सारे विकल्प होने ज़रूरी हो जाते हैं। क्योंकि चुनने के लिए कम विकल्प होने से अधिकांश महिलाएँ तनाव में आ जाती हैं। यह विकल्प, सौभाग्यवश, बहुतेरे और सशरीर मौजूद हैं। अगर पुरुष के अंगों का ज़िक्र होगा तो उनका शरीर अपने आप आएगा। सबसे पहले बात करते हैं पुरुष शरीर की। मगर उस से पहले बात करनी पड़ेगी महिला की चाह की। क्योंकि महिला की चाह पुरुष का विशेष अंग नहीं होता, बल्कि उनका अंग प्रत्यंग होता है। और सिर्फ़ अंग प्रत्यंग ही नहीं, उसके साथ ना जाने कितने और रंग ज़रूरी हैं। तो बात करते हैं पुरुषों के इन्हीं अंग-प्रत्यंग, रंग-ढंग की महिलायें, पुरुष की उस चीज़ की तरफ़ सबसे ज़्यादा खिंचाव महसूस करती हैं, जिस चीज़ की वो ख़ुद में कमी पाती हैं। वैसे यह सिद्धान्त हम सभी पर लागू होता है “हम उसी और खिंचे चले जाते हैं, जिस की हम ख़ुद के जीवन में कमी पाते हैं।” चूँकि बात यहाँ महिलाओं की है तो हम उन्ही की बात करते हैं। सबसे पहली कमी जो लगभग हर महिला को पुरुष की तुलना में खलती है। वो है “क़द” महिलाएँ ख़ुद से लम्बे पुरुषों की तरफ़ आकर्षित होती ह…

एक ऐसा अजीब देश जहा मर्द करते हैं गुलामी महिलाओं का !! Strange Country


एक ऐसा अजीब देश जहा मर्द करते हैं गुलामी

महिलाओं के   !! Strange Country




दुनिया में भले ही कोई भी पुरुष किसी महिला की गुलामी नहीं करना चाहता हो लेकिन इस दुनिया में एक देश ऐसा भी है, जहां पुरुष सिर्फ महिलाओं की गुलामी करते हैं। इतना ही नहीं, जिन्हें महिलाओं की गुलामी करने में मजा आता है, वे यहां आकर खुश रहते हैं। हैरानी वाली बात यह है कि इस देश में महिलाएं ही शासन करती हैं और पुरुष जीवनभर उनके गुलाम ही रहते हैं।पुरुषों को गुलाम बनाकर रखने वाले इस देश का नाम है ‘अदर वर्ल्ड किंगडम’हैं जो 1996 में एक यूरोपीय देश, चेक रिपब्लिक, से अलग होकर बना था। हालांकि इस भू-भाग को देश भी नहीं कहा जा सकता है क्योंकि दुनिया के अन्य राष्ट्रों ने इसे किसी देश का दर्जा नहीं दिया है।

इस देश की रानी पैट्रीशिया-1 है, जिसका यहां एकछत्र राज चलता है। यहां की मूल निवासी का दर्जा सिर्फ महिलाएं को ही मिलता है और पुरुषों का प्रवेश इस देश में केवल गुलामों के तौर पर होता है। यहां पुरुषों को गुलामों के अलावा और कुछ भी नहीं समझा जाता। इस देश में दूसरे देश से आए पुरुषों को रानी के बैठने के लिए सोफा बनना पड़ता है, जिस पर वह बैठती हैं।

यही नहीं, यहां अगर पुरुषों को शराब पीना है तो ऐसा करने से पहले उसे अपनी मालकिन के पैरों में शराब चढ़ानी पड़ती है और इसके बाद ही गुलाम इसे पी सकता है। यहां कोई भी काम महिलाओं की इजाजत के बिना पुरुष नहीं कर सकते, वहीं पुरुषों के लिए सख्त कानून भी बने हैं और जो पुरुष इन कानूनों का पालन नहीं करता उन्हें सख्त सजा से गुजरना पड़ता है।

Comments